• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ममता बनर्जी ने प्रदेश में बंद का किया विरोध, लेफ्ट पर जमकर बरसीं

|

नई दिल्ली। देशभर के कर्मचारी संगठन आज से दो दिन की हड़ताल पर हैं। तमाम लेफ्ट पार्टियों ने इस देशव्यापी हड़ताल का समर्थन किया है और अपने संगठनों से इस हड़ताल में शामिल होने के लिए कहा है। पश्चिम बंगाल में लेफ्ट पार्टी के इस हड़ताल के खिलाफ प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मोर्चा खोल दिया है। ममता बनर्जी ने कहा कि वह इस हड़ताल का समर्थन नहीं करती हैं और प्रदेश में हड़ताल से निपटने के लिए सरकार ने पुख्ता योजना बनाई है।

mamta

लेफ्ट पार्टियों पर निशाना साधते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि पिछले 34 सालों में लेफ्ट पार्टियों की हड़ताल की राजनीति की वजह से लोगों को काफी नुकसान हुआ है और प्रदेश का विकास ठप हो गया था। ममता ने कहा कि आम लोगों को इस हड़ताल की वजह से किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं हो इसके लिए उन्होंने पुख्ता इंतजाम किए हैं। हम प्रदेश में बंद का समर्थन नहीं करते हैं, प्रदेश में कोई बंद नहीं होगा। प्रदेश के वित्त विभाग की ओर से पहले ही निर्देश जारी किया गया है कि सरकारी कार्यालयों में उपस्थिति अनिवार्य होगी। कर्मचारियों को कैजुअल लीव नहीं दी जाएगी।

हड़ताल के चलते पश्चिम बंगाल सरकार प्रदेश में 500 अतिरिक्त बसे चलाएगी जिससे लोगों को किसी भी तरह की कोई समस्या नहीं हो। इसके साथ ही 20 फीसदी अतिरिक्त ट्रैम्स का भी संचालन इस्टर्न मेट्रोपोलिस में किया जाएगा। आपको बता दें कि लेफ्ट पार्टियों ने अपने तमाम सहयोगी संघठनों से इस हड़ताल में शामिल होने के लिए कहा है और नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने को कहा है। कर्मचारियों और किसानों ने ऐलान किया है कि वह इस दौरान रेल और रास्ता रोको अभियान चलाएगी। कई राज्यों में शैक्षणिक संस्थानों ने हड़ताल के चलते छुट्टी की घोषणा कर दी है।

इसे भी पढ़ें- गुजरात में भाजपा विधायक जयंती भानुशाली की चलती ट्रेन में गोली मारकर हत्या, लगा था रेप का आरोप

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mamta Banerjee says there will be no bandh in the state slams left parties.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X