• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Maharana Pratap Jayanti:भारत के महान योद्धा महाराणा प्रताप के बारे में जानें ये 5 बातें

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 13 जून: मेवाड़ के 13वें राजा महाराणा प्रताप की जयंती आज (13 जून) को पूरे भारत में मनाई जा रही है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार महाराणा प्रताप जयंती हर साल 9 मई को पड़ती है। हालांकि, हिंदू कैलेंडर ज्येष्ठ के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को योद्धा राजा महाराणा प्रताप की जयंती मनाई जाती है। इसलिए इस बार 13 जून को मनाया जा रहा है। अग्रेंजी कैलेंडर के अनुसार महाराण प्रताप का जन्म 9 मई, 1540 में हुआ था। राजस्थान और हिमाचल प्रदेश सहित कई राज्य महाराणा प्रताप जयंती पूरे जोश में मनाते हैं और इस दिन को सार्वजनिक अवकाश भी घोषित करते हैं। भारत के महान योद्धा महाराणा प्रताप की जयंती पर जानें उनके बारे में ये खास बातें।

महाराणा प्रताप का जन्म 9 मई 1540 को हुआ

महाराणा प्रताप का जन्म 9 मई 1540 को हुआ

1. महाराणा प्रताप का जन्म 9 मई 1540 को एक राजपूत परिवार में हुआ था। उनके पिता उदय सिंह द्वितीय मेवाड़ वंश के 12वें शासक और उदयपुर के संस्थापक थे। परिवार में सबसे बड़े बच्चे प्रताप के तीन भाई और दो सौतेली बहनें थीं।

भारत के सबसे मजबूत योद्धा थे महाराणा प्रताप

भारत के सबसे मजबूत योद्धा थे महाराणा प्रताप

2. महाराणा प्रताप को भारत के अब तक के सबसे मजबूत योद्धाओं में से एक माना जाता है। इसलिए उन्हें 'माउंटेन मैन' भी कहा जाता है। महाराणा प्रताप 2.26 मीटर (7 फीट 5 इंच) लंबे थे। वह 72 किलोग्राम वजनी बॉडी आर्मर यानी कवच भी पहनते था। 81 किलो का भाला रखते थे। इसके अलावा उनके पास दो भारी वजनी तलवारें भी थी। कुल मिलाकर लगभग 208 किलोग्राम वजन वह अपने साथ लेकर चलते थे।

राजा बनना आसान नहीं था महाराणा प्रताप के लिए

राजा बनना आसान नहीं था महाराणा प्रताप के लिए

3.महाराणा प्रताप का सिंहासन पर चढ़ना आसान नहीं था। प्रताप की सौतेली मां रानी धीर बाई, मुगल सम्राट अकबर के हाथों उदय सिंह की हार के बाद कुंवर जगमल को राजा बनाना चाहती थीं। 1568 में, अकबर ने चित्तौड़गढ़ किले पर कब्जा कर लिया था और मेवाड़ राजघराने ने उदयपुर में शरण ली थी। एक लंबे संघर्ष के बाद, प्रताप को राजा बनाया गया क्योंकि जगमल को एक अयोग्य शासक के रूप में पाया गया था।

अकबर को तीन बार महाराणा प्रताप ने हराया था

अकबर को तीन बार महाराणा प्रताप ने हराया था

4. महाराणा प्रताप मुगल साम्राज्य के विस्तारवाद के खिलाफ सैन्य प्रतिरोध और हल्दीघाटी की लड़ाई और देवर की लड़ाई में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के लिए जाने जाते हैं। उसने मुगल बादशाह अकबर को तीन बार हराया था - 1577, 1578 और 1579 में।

महाराणा प्रताप की 11 पत्नियां, 17 बच्चे थे

महाराणा प्रताप की 11 पत्नियां, 17 बच्चे थे

5. महाराणा प्रताप की 11 पत्नियां और 17 बच्चे थे। उनके सबसे बड़े पुत्र, महाराणा अमर सिंह 1, उनके उत्तराधिकारी बने और मेवाड़ वंश के 14वें राजा थे। महाराणा प्रताप की मृत्यु 56 वर्ष की आयु में 19 जनवरी, 1597 को एक शिकार दुर्घटना में घायल होने के बाद हुई थी।

English summary
Maharana Pratap Jayanti: 5 facts about the Rajput king Maharana Pratap
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X