मध्य प्रदेश में 5 मुस्लिम युवकों पर पहले दर्ज किया देशद्रोह का मामला, फिर लिया वापस

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

भोपाल। मध्य प्रदेश के खांडवा में जिस तरह सेस विवादि पोस्टर लगाने के आरोप में पांच मुस्लिम युवकों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कराया गया था, उसे पुलिस ने वापस ले लिया है। मंगलवार को पुलिस ने सबूतों के अभाव में युवकों पर देशद्रोह का मामला वापस ले लिया है। मोघाट पुलिस स्टेशन के सब इंसपेक्टर रमेशो मोरे ने बताया कि पांचों लोगों के खिलाफ देशद्रोह के आरोप में पर्याप्त सबूत नहीं थे, जिसकी वजह से उनपर लगे मुकदमे को वापस ले लिया गया है।

madhya pradesh

11 लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ था मुकदमा

आपको बता दें कि रविवार को 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया गया था, जिसमे पांच नाबालिग भी शामिल थे। इन सभी पर आरोप था कि इद मिलाद उन नबी के मौके पर खांडवा में कथित रूप से कुछ पोस्टर लगाए थे, इस पोस्टर में लिखा था कि हमारे आजम को हमारे गद्दार जान जाएंगे, अगर इतिहास पड़ लेंगे तो पहचान पाएंगे, ये हिंदुस्तान मेरे ख्वाजा का था और रहेगा, गलतफहमी में मत रहना कि राम राज्य लाएंगे।

प्रिंटर मालिक के खिलाफ भी मामला दर्ज

पांच आरोपियों के खिलाफ सेक्शन 124 ए के तहत यानि देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था, जबकि अन्य के खिलाफ सेक्शन 153 ए, 505-2 सेक्शन 34 के तहत मामला दर्ज कराया गया था। जिन 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था उसमे पंकज सोनी भी शामिल हैं जोकि ग्राफिक दुकान के मालिक हैं, उनके यहां ये पोस्टर छापे गए थे। पंकज और सभी पांच नाबालिग आरोपियों को जमानत पर रिहा कर दिया गया है, जबकि पांच अन्य आरोपियों को मंगलवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

गृहमंत्री ने कहा था कि हम नहीं बख्शेंगे

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने ट्वीट करके सोमवार को लिखा था कि जो लोग शांति को भंग करने की कोशिश करेंगे हमारी सरकार उनके खिलाफ सख्ती से निपटेगी, ऐसे लोगों को यह समझना चाहिए कि शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई में भाजपा की सरकार है, जो दंगों को कुचलने में झिझकेगी नहीं। वहीं इस मामले में खांडवा के एसपी नवनीत भसीन ने कहा कि सबूत अभी भी इकट्ठा किए जा रहे हैं, जिसके आधार पर पुलिस धाराओं में बदलाव कर सकती है, जिसके तहत आरोपियों को बुक किया गया है। उन्होंने कहा कि पोस्टर को जानबूझकर उल्टा चिपकाया गया था जिससे की देशद्रोह का मामला दर्ज नहीं हो।

इसे भी पढ़ें- 15 साल के बेटे पर मां-बहन की बैट से पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Madhya Pradesh Police withdraw sedition charges against 5 muslim youth. They were earlier booked by the MP police.
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.