• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इस वजह से अपना टूटा ऑफिस ठीक नहीं करा सकतीं कंगना रनौत, बोलीं- अब ऐसे ही करूंगी काम

|

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत बीते कुछ दिनों से अपने ट्वीट्स के चलते सुर्खियों में बनी हुई हैं। उन्होंने ना केवल इंडस्ट्री में फैले नेपोटिजम और गैंगिजम पर अपनी बात रखी बल्कि सुशांत सिंह राजपूत मामले में ड्रग एंगल पर भी खुलकर बोलीं। इस दौरान कंगना ने मुंबई पुलिस पर भी कई सवाल उठाए, जिसके बाद शिवसेना नेता संजय राउत और अभिनेत्री के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई। इस जुबानी जंग के बीच ही मुंबई में बीएमसी ने कंगना रनौत के ऑफिस में अवैध निर्माण का आरोप लगाते हुए तोड़फोड़ की। जिसके अगले दिन कंगना अपना टूटा हुआ ऑफिस देखने पहुंचीं।

क्यों ऑफिस ठीक नहीं कराएंगी कंगना?

क्यों ऑफिस ठीक नहीं कराएंगी कंगना?

अब कंगना ने ट्वीट करते हुए कहा है कि वह अपने इसी टूटे हुए ऑफिस में काम करेंगी और इस बात को निशानी बनाकर रखेंगी कि एक औरत ने दुनिया से टकराने की हिम्मत दिखाई थी। अपने ट्वीट में कंगना लिखती हैं, 'मैंने अपना ऑफिस 15 जनवरी को खोला था, जिसके थोड़े समय बाद ही कोरोना आ गया। बाकी लोगों की तरह ही मैंने भी तब से काम नहीं किया है, अब मेरे पास ऑफिस ठीक कराने के पैसे नहीं हैं, मैं यहां ऐसे ही काम करूंगी। इसे इसी बात की निशानी बनाकर रखूंगी कि एक औरत ने दुनिया से टकराने की हिम्मत दिखाई थी।' अपने ट्वीट में कंगना ने हैशटैग 'कंगना बनाम उद्धव' लिखा।

    Kangana Ranaut का दफ्तर ढहा दिया पर BMC ने इन अवैध निर्माणों पर नहीं की कार्रवाई? | वनइंडिया हिंदी
    मुंबई को बताया था असुरक्षित

    मुंबई को बताया था असुरक्षित

    आपको बता दें कंगना रनौत 9 सितंबर को केंद्र की ओर से मिली वाई कैटेगरी सुरक्षा के साथ मुंबई पहुंची थीं। उनकी गैर मौजूदगी में ही बीएमसी उनका ऑफिस तोड़ने पहुंच गई। हालांकि इसी दिन बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीएमसी की इस कार्रवाई पर रोक लगाने का आदेश दिया। बीएमसी की इस कार्रवाई को कंगना ने बदले की भावना करार दिया है। साथ ही कई राजनेताओं से लेकर अभिनेताओं तक ने बीएमसी की निंदा की। ये पूरा विवाद तब शुरू हुआ था, जब कंगना ने कहा था कि वह मुंबई में सुरक्षित महसूस नहीं करेंगी और उन्हें केंद्र या फिर हिमाचल प्रदेश सरकार से सुरक्षा चाहिए। इसी के साथ कंगना ने ये भी कहा था कि उन्हें मुंबई पीओके जैसी महसूस हो रही है। जिसपर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख और शिवसेना नेता संजय राउत ने उन्हें महाराष्ट्र ना आने की सलाह दी थी।

    'आज मेरा घर टूटा है कल तेरा घमंड टूटेगा'

    'आज मेरा घर टूटा है कल तेरा घमंड टूटेगा'

    ऑफिस तोड़े जाने के बाद कंगना रनौत ने एक वीडियो भी जारी किया। जिसमें उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का भी नाम लिया। इस वीडियो में कंगना ने कहा, 'उद्धव ठाकरे तुझे क्या लगता है... कि तूने फिल्म माफिया के साथ मिलकर मेरा घर तोड़ के मुझसे बहुत बड़ा बदला लिया है। आज मेरा घर टूटा है कल तेरा घमंड टूटेगा। ये वक्त का पहिया है याद रखना हमेशा एक जैसा नहीं रहता। और मुझे लगता है कि तुमने मुझ पर बहुत बड़ा एहसान किया है। क्योंकि मुझे पता तो था कि कश्मीरी पंडितों पर क्या बीती होगी। आज मैंने महसूस किया है और आज मैं इस देश को वचन देती हूं कि मैं सिर्फ अयोध्या पर ही नहीं, कश्मीर पर भी एक फिल्म बनाऊंगी। और अपने देशवासियों को जगाऊंगी। क्योंकि मुझे पता था कि ये हमारे साथ होगा। लेकिन मेरे साथ हुआ है। इसका कुछ मतलब है इसके कोई मायने हैं और उद्धव ठाकरे ये जो क्रूरता आतंक है... अच्छा हुआ ये मेरे साथ हुआ... जय हिंद जय महाराष्ट्र।'

    'कितने मुंह बंद करोगे?'

    'कितने मुंह बंद करोगे?'

    इसके अलावा कंगना ने कई ट्वीट करते हुए भी महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधा। जिसमें उन्होंने लिखा है, 'मेरे कई मराठी दोस्त कल फोन पे रोए, कितनों ने मुझे सहायता हेतु कई सम्पर्क दिए, कुछ घर पे खाना भेज रहे थे जो मैं सिक्यरिटी प्रोटोकॉल्ज के चलते स्वीकार नहीं कर पायी, महाराष्ट्र सरकार की इस काली करतूत से दुनिया में मराठी संस्कृति और गौरव को ठेस नहीं पहुंचानी चाहिए. जय महाराष्ट्र।'

    'कितनी आवाजें दबाओगे?'

    'कितनी आवाजें दबाओगे?'

    एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, 'तुम्हारे पिताजी के अच्छे कर्म तुम्हें दौलत तो दे सकते हैं मगर सम्मान तुम्हें खुद कमाना पड़ता है, मेरा मुंह बंद करोगे मगर मेरी आवाज मेरे बाद सौ फिर लाखों में गूंजेगी, कितने मुंह बंद करोगे? कितनी आवाजें दबाओगे? कब तक सच्चाई से भागोगे तुम कुछ नहीं हो सिर्फ वंशवाद का एक नमूना हो। मैं इस बात को विशेष रूप से सपष्ट करना चाहती हूं की महाराष्ट्र के लोग सरकार द्वारा की गयी गुंडागर्दी की निंदा करते हैं, मेरे मराठी शुभचिंतकों के बहुत फोन आ रहे हैं, दुनिया या हिमाचल में लोगों के दिल में जो दुःख हुआ है वो यह कतई ना सोचों की मुझे यहां प्रेम और सम्मान नहीं मिलता।'

    कंगना के ऑफिस में तोड़फोड़ पर बोले संजय राउत- इसका शिवसेना से कोई लेना-देना नहीं, ये बीएमसी ने किया है

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    kangana ranaut says dont have money to renovate demolished office will work here
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X