• search

Kailash Mansarovar Yatra: खराब मौसम के चलते सिमिकोट में फंसे 200 तीर्थयात्री

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    नई दिल्ली। ऐतिहासिक कैलाश मानसरोवर यात्रा में फिर गतिरोध उत्पन्न हो गया है, उच्च हिमालयी क्षेत्र में मौसम खराब होने की वजह से सिमीकोट में तकरीबन 200 तीर्थयात्री फंसे हुए हैं। जिनके बारे में भारतीय दूतावास की ओर से बयान आया है कि हम लगातार उनके और उनकी फैमिली के संपर्क में है। हालात काबू में हैं और मौसम साफ होते ही उन तीर्थयात्रियों को रवाना कर दिया जाएगा।

     कैलाश मानसरोवर यात्रा

    कैलाश मानसरोवर यात्रा

    आपको बता दें कि हिंदू धर्म के लिए खास महत्व रखने वाली मानसरोवर तिब्बत की एक झील है, जो कि इलाके में 320 वर्ग किलोमाटर के क्षेत्र में फैली है। इसके उत्तर में कैलाश पर्वत और पश्चिम में राक्षसताल है। यह समुद्रतल से लगभग 4556 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। इसकी त्रिज्या लगभग 88 किलोमीटर है और औसत गहराई 90 मीटर है।

    यह भी पढ़ें:Friendship Day पर भेजिए दोस्तों को दिल छू लेने वाले ये संदेश

    कैलाश पर्वत और मानसरोवर हैं धरती का केंद्र

    कैलाश पर्वत और मानसरोवर हैं धरती का केंद्र

    कैलाश पर्वत और मानसरोवर को धरती का केंद्र माना जाता है। मानसरोवर वह पवित्र जगह है, जिसे शिव का धाम माना जाता है। मानसरोवर के पास स्थित कैलाश पर्वत पर भगवान शिव साक्षात विराजमान हैं। यह हिन्दुओं के लिए प्रमुख तीर्थ स्थल है। संस्कृत शब्द मानसरोवर, मानस और सरोवर को मिल कर बना है जिसका शाब्दिक अर्थ होता है- मन का सरोवर।

    बौद्धधर्म और जैनियों के लिए भी ये मानक

    बौद्धधर्म और जैनियों के लिए भी ये मानक

    बौद्ध धर्म को मानने वाले कहते हैं कि यहीं पर रानी माया को भगवान बुद्ध की पहचान हुई थी तो जैनियों के लिए भी ये पवित्र स्थल है।

    यह भी पढ़ें: Happy Friendship Day 2018: हर एक दोस्त जरूरी होता है

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Aware that about 200 pilgrims are stuck in Simikot due to bad weather & we are in continual touch with them and their families. Situation is under control and stranded pilgrims would be evacuated as soon as weather clears: Indian Embassy in Nepal

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more