बीजेपी चीफ अमित शाह की जींद रैली पर खतरा, खुफिया एजेसियों ने दी टालने की सलाह

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। हरियाणा के जींद में होनी वाली अमित शाह की रैली पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। खुफिया एजेंसियों ने बीजेपी चीफ अमित शाह की जींद रैली टालने की सलाह दी है। खुफिया एजेंसियों को आशंका है कि एक बार फिर हरियाणा के हालात बिगड़ सकते हैं। एजेंसियों ने सरकार से कहा है कि अमित शाह की रैली टाल दी जाए। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह हरियाणा में आगामी 15 फरवरी को दौरा करने वाले हैं, लेकिन अमित शाह के इस दौरे के खिलाफ जाटों ने आंदोलन की धमकी दी है, जिसके बाद हरियाणा सरकार के हाथ-पांव फूल गए हैं। शाह के दौरे को देखते हुए प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार से सीआरपीएफ की 150 कंपनियां भेजने की मांग की है।

जाटों ने दी है धमकी

जाटों ने दी है धमकी

भाजपाई करीब एक लाख मोटरसाइकिलों के जरिए जींद रैली में पहुंचेंगे। भाजपाइयों की बाइक रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी हो चुकी और जाट ट्रैक्टर-ट्रालियों का रजिस्ट्रेशन कर रहे हैं। उधर यशपाल मलिक के नेतृत्व में अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने ऐलान किया है कि वह जींद में अमित शाह के दौरे के दौरान होने वाली बाइक रैली को रोकेगी, इसके लिए प्रदर्शनकारी यहां बड़ी संख्या में ट्रैक्टर और ट्रॉली इकट्ठा करने की योजना बना रहे हैं।

जींद में अमित शाह की रैली के खिलाफ एनजीटी में याचिका

जींद में अमित शाह की रैली के खिलाफ एनजीटी में याचिका

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की हरियाणा के जींद में होने वाली रैली के खिलाफ नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल में याचिका दायर की गई है। अमित शाह की इस रैली में एक लाख से अधिक बाइकों के हिस्सा लेने की आशंका है। शाह की इस बाइक रैली के खिलाफ दायर याचिका पर एनजीटी ने हरियाणा की खट्टर सरकार को इस याचिका पर 13 फरवरी तक जवाब देने को कहा है। हरियाणा सरकार को एनजीटी ने निर्देश दिया है कि इस याचिका के जवाब में एफिडेविट दायर करिए।

बड़ी संख्या में बाइकों की रैली का आयोजन किया जाएगा

बड़ी संख्या में बाइकों की रैली का आयोजन किया जाएगा

आपको बता दें कि अमित शाह 15 फरवरी को हरियाणा के जींद में रैली करेंगे, इस दौरान बड़ी संख्या में बाइकों की रैली का आयोजन किया जाएगा। एक तरफ जहां एनजीटी में इस रैली के खिलाफ याचिका दायर की गई है तो दूसरी तरफ जाटों ने भी शाह की रैली का विरोध करने का ऐलान किया है। जाटों ने धमकी दी है कि शाह की बाइक रैली को नहीं होने देंगे और इसे रोकने की हर संभव कोशिश करेंगे। इसके लिए ट्रैक्टर और ट्रॉली को इकट्ठा करने की योजना बना रहे हैं। जाटों की धमकी को देखते हुए खट्टर सरकार ने तमाम आला पुलिस अधिकारियों को सुरक्षा इंतजाम पुख्ता करने का निर्देश दिया है, साथ ही केंद्र सरकार से सीआरपीएफ की 150 कंपनी को भेजने के लिए कहा है। जाटों की धमकी को देखते हुए प्रदेश के तमाम पुलिसकर्मियों की छुट्टी को रद्द कर दिया गया है। जाटों के आंदोलन की धमकी के बीच हरियाणा सरकार ने 2016 में आंदोलन के दौरान जिन लोगों पर हिंसा के आरोप में मामला दर्ज किया गया था उसे वापस ले लिया है।

जब CM थे तो 'चाय मैन' थे, अब PM हैं तो 'पकौड़ा मैन': हार्दिक पटेल

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Jats threaten to block Amit Shah rally in Jind,intelligence agencies advise bjp chief to avoid haryana tour

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.