• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

संयुक्त राष्ट्र में रचिता भंडारी के जवाब से पाकिस्तान के छूटे पसीने, काली करतूतों की कराई गिनती

|

नई दिल्ली। कई बार अंतर्राष्ट्रीय मंच पर आंतकवाद और जम्मू-कश्मीर को लेकर मुंह की खाने वाला पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है। पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में एक बार फिर जब जम्मू-कश्मीर का रोना रोया तो भारत ने भी उसे करारा जवाब दे दिया। भारत की ओर से रचिता भंडारी ने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की जमकर क्लास लगाई। बुधवार को उन्होंने कहा, क्या पाक इस बात से इंकार कर सकता है कि वह 25 आतंकवादी संस्थाओं का घर है?

भारत की स्थायी दूत हैं रचिता भंडारी

भारत की स्थायी दूत हैं रचिता भंडारी

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में जवाब देने के अपने अधिकार का इस्तेमाल करते हुए भारत की स्थायी दूत रचिता भंडारी ने पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दिया। उन्होंने कहा, क्या पाक इस बात से इंकार कर सकता है कि यह संयुक्त राष्ट्र द्वारा सूचीबद्ध संयुक्त राष्ट्र के आतंकवादी और 25 आतंकवादी संस्थाओं का घर है, और यह कि यह अभियोजित व्यक्ति चुनावों में सक्रिय रूप से अपनी पार्टी का प्रचार किया और चुनाव भी लड़ा।

पाकिस्तान को दिया करारा जवाब

उन्होंने आगे सवाल किया कि यूएनएससी प्रस्ताव के तहत पाकिस्तान से पहला कदम उठाते हुए पीओके से पीछे हटने को कहा गया है जिसे वह पिछले 7 दशकों से नजरअंदाज करता रहा है, क्या अब पाकिस्तान इस बात को भी नकार देगा? रचिता भंडारी ने जवाब में कहा कि, भारत सिर्फ दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र नहीं है बल्कि मजबूत कार्यात्मक और जीवंत भी है। भारत को किसी भी विफल देश से सीख लेने की जरूरत नहीं है, जो न तो अपने देश में लोकतंत्र स्थापित कर सका और न ही मानवाधिकारों को सुरक्षित रख सका।

UNHRC की बैठक के दौरान उठा ये मुद्दा

UNHRC की बैठक के दौरान उठा ये मुद्दा

स्विटजरलैंड के जेनेवा में इन दिनों संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद का 43 सत्र आयोजित हो रहा है। इसी दौरान हजारा समुदाय से जुड़ी एक मानवाधिकार कार्यकर्ता ने अफगानिस्तान और पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे उत्पीड़न को लेकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय से तुरंत दखल देने की गुहार लगाई है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की बैठक के दौरान हजारा समुदाय से जुड़ी एक मानवाधिकार कार्यकर्ता कुर्बान अली ने पाकिस्तान और अफगानिस्तान में हजारा अल्पसंख्यकों पर तालिबान, आईएसआईआएस के आतंकी हमलों और दूसरे सुन्नी आतंकी संगठनों की ओर से होने वाले हमलों को लेकर चिंता जताई है।

देश की सबसे खूबसूरत महिलाओं में शामिल हो चुकी हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया की पत्नी प्रियदर्शनी, दिलचस्प है प्रेम कहानी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India Rachita Bhandari Reply to pakistan at UN Human Rights Council Geneva
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X