धर्म संसद में स्वामी नरेंद्र नाथ ने कहा- हिन्दू मोबाइल को दूर रख कर, हथियार उठाएं

Subscribe to Oneindia Hindi

उडुपी। कर्नाटक के उडुपी में विश्व हिन्दू परिषद की तीन दिवसीय धर्म संसद के दौरान स्वामी नरेंद्र नाथ ने कहा कि हिन्दू खुद से मोबाइल को दूर रखें। उन्होंने अपील की है कि हिन्दू हथियार उठाएं। स्वामी ने कहा कि आपको लाखों रुपए की कीमत के मोबाइल की आवश्यकता क्या है? हर हिन्दू के पास मोबाइल की जगह हथियार होना चाहिए। मोबाइल की जगह हथियार रखने की बात को आत्मरक्षा से जोड़ते हुए स्वामी ने कहा कि ऐसे वक्त में जब हिन्दू मंदिरों पर हमले हो, पूजा स्थलों को खत्म किया जा रहा हो,यहां तक की संसद को भी निशाना बनाया जा रहा हो, ऐसे में हर किसी के पास अपनी रक्षा के लिए हथियार होना चाहिए। धर्म संसद के मंच से स्वामी ने कहा कि हिन्दू समुदाय को बहुत खतरा है।

धर्म संसद में स्वामी नरेंद्र नाथ ने कहा- हिन्दू मोबाइल से दूर रख, हथियार उठाएं

स्वामी ने कहा कि देश के मंदिर आतंकियों के निशाने पर है, ऐसे में मोबाइल दूर रखकर हथियार उठाएं। इस दौरान उन्होंने  स्वामी गोविंददेव गिरीजी महाराज के बयान का समर्थन किया और कहा कि सिर्फ हिन्दुओं पर ही 2 बच्चों की नीति क्यों लागू हो? गौरतलब है कि 25 नवंबर को गोविंददेव गिरीजी महाराज ने कहा था कि भारत ने उन प्रदेशों को खो दिया है जहां भी हिंदू आबादी कम हो गई है, जिसके परिणामस्वरूप जनसांख्यिकी असंतुलन हुआ।

गिरी जी महराज ने यह बात विश्व हिन्दू परिषद के एक कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने कहा कि "जनसांख्यिकीय असंतुलन" को बराबर करने के लिए समान नागरिक संहिता लागू होने तक हिंदुओं को कम से कम चार बच्चे पैदा करने चाहिए।

विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित तीन दिवसीय धर्म संसद के दूसरे दिन वह पत्रकारों से बात करते हुए स्वामी ने कहा कि सरकार अधिकतम दो बच्चों पर जोर दे रही है, लेकिन जब तक एक समान नागरिक संहिता लागू नहीं की जाती है, तब तक हिंदुओं में कम से कम चार बच्चे पैदा करने चाहिए।

बता दें कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संगठन, विश्व हिन्दू परिषद की ओर से आयोजित धर्म संसद का आज तीसरा और आखिरी दिन था। जिसमें सरसंघचालक मोहनभागवत भीी पहुंचे थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hindu should have weapon instead of mobile vhp dharma sansad karnataka
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.