• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

देश का सबसे बड़ा COVID केयर सेंटर 15 सितंबर से हो जाएगा बंद, जानें क्यों?

|

बेंगलुरु। कोरोना महामारी का देश भर में प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। जून माह में कर्नाटक की राजधानी में भी अचानक कोरोना के केस बढ़े जो अभी भी जारी है, लेकिन कर्नाटक की येदुयुरप्‍पा सरकार ने बेंगुलरु में पिछले दिनों बड़ी लागत लगाकर शुरु किए कोरोना केयर सेंटर को बंद करने का निर्णय लिया है। बताया जा रहा है कि बेंगलुरु अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी केंद्र में बनाया गया COVID केयर सेंटर देश का सबसे बड़ा कोव‍िड सेंटर था जो मामूली लक्षणों और अस्‍थमा रोगियों के लिए बनवाया गया था। जिसे अब 15 सितंबर को बंद किया जा रहा है।

15 सितंबर को इसलिए बंद कर दिया जाएगा ये कोविड केयर सेंटर

15 सितंबर को इसलिए बंद कर दिया जाएगा ये कोविड केयर सेंटर

बता दें कोरोना बीमारी में सांस संबंधी दिक्‍कतें होती हैं और ये बीमारी सांस से संबंधित रोगियों के लिए बहुत बड़े खतरे के तौर पर देखी जा रही थी। चूंकि कनार्टक की राजधानी बेंगलुरु में सांस से संबंधति बीमारी अधिक हैं इसलिए कोरोना का बेंगलुरु में जैसे ही प्रकोप बढ़ा ये कोविड सेंटर खोला गया। वहीं सरकार का अब कहना है कि जब से कर्नाटक सरकार ने अस्‍थमा रोगियों और कोरोना के हल्‍के-फुल्‍के लक्षणों वाले मरीजों को सोशल डिस्‍टेसिंग का पालन करने समेत स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा जारी दिशानिर्देशों के पालन के साथ होमआइसोलेशन की परमीशन दी गई है तब से इस सेंटर में मरीज जाने बंद हो गए हैं। यहीं कारण है कि सरकार ने इसे बंद करने का आदेश दिया है।

11 वर्षीय सफा जरीन के गांव में नहीं आता नेटवर्क, ऑनलाइन पढ़ाई के लिए ढूढ़ा ये जुगाड़, जीता सबका दिल

    Congress बोले- बात 21 दिन की हुई थी, लेकिन 166 दिन बाद भी Covid का Mahabharata जारी | वनइंडिया हिंदी
    कोविड केयर टास्क फोर्स के प्रमुख ने बोली ये बात

    कोविड केयर टास्क फोर्स के प्रमुख ने बोली ये बात

    4 सितंबर को दिए गए एक आदेश में, शहर के नागरिक निकाय, बृहद बेंगलुरु महानगर पालिक (बीबीएमपी) ने कहा है कि मुख्यमंत्री की सलाह पर मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में 10,000 से अधिक बेड की संभावित क्षमता के साथ सुविधा को बंद करने का निर्णय लिया गया है। कोविड केयर टास्क फोर्स के प्रमुख ने कहा कि उक्त केंद्र के लिए लाए गए फर्नीचर समेत अन्‍य सामान को अन्‍य जगह देने का निर्णय लिया गया है। बेड, गद्दा, पंखे, डस्टबिन, पानी के डिस्पेंसर समेत अन्‍य सामान सरकार द्वारा संचालित हॉस्टल और अस्पतालों में मुफ्त में बांट दिए जाएंगे।

     इस सेंटर में नही आ रहे मरीज

    इस सेंटर में नही आ रहे मरीज

    आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि सोशल डिस्‍टेसिंग और हल्‍के-फुल्‍के लक्षणों वाले कोरोना मरीजों को कोरोना मरीजों ​​मामलों के घर के अलगाव की अनुमति देने के सरकार के फैसले के बाद, केंद्र में भर्ती होने वाले लोगों में भारी गिरावट आई है, आधिकारिक सूत्रों ने कहा।

    भारी विरोध के बाद सरकार ने खरीदे ये फर्नीचर

    भारी विरोध के बाद सरकार ने खरीदे ये फर्नीचर

    बता दें कर्नाटक सरकार की व्यापक आलोचना और एक उच्च लागत पर इस कोविड सेंटर के लिए आवश्यक बेड और फर्नीचर किराए पर देने के अपने फैसले के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद, सरकार ने बाद में इसे खरीदने का फैसला किया था। सरकार द्वारा बंद किए जा रहे इस कोविड अस्‍पताल के जो सामान बांटे जा रहे हैं। इसके बाद समाज कल्याण विभाग के छात्रावासों के लिए 2,500 फर्नीचर मिलेंगे, जबकि बागलकोट, अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के छात्रावास और जीकेवीके, बेंगलूरु में बागवानी विश्वविद्यालय के छात्रावास में 1,000 प्रत्येक को मिलेगा। शेष फर्नीचर सरकारी अस्पतालों और छात्रावासों को अनुरोध के आधार पर दिया जाएगा।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Country's largest COVID care center will be closed from September 15, know why?
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X