• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कांग्रेस ने शेयर किया गडकरी का वीडियो, बोले सत्ता में आने के लिए किए थे लंबे-चौड़े वादे

|

नई दिल्ली। मोदी सरकार अपने ही एक सीनियर मंत्री के बयान के चलते विपक्ष के निशाने पर आ गई है। राहुल गांधी ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के टीवी इंटरव्यू की एक क्लिप ट्विटर पर शेयर की है। जिसमें गडकरी कथित तौर पर यह कहते नजर आ रहे हैं, 'हमें विश्वास नहीं था कि हम सत्ता में आएंगे। फिर हमारे लोगों ने कहा कि बड़े-बड़े वादे करो। अब समस्या यह है कि लोगों ने हमें सत्ता दे दी। यह वीडियो मराठी भाषा में है। जिसमें गड़करी यह करते सुने जा सकते हैं।

हमें पूरा भरोसा था कि हम कभी सत्ता में नहीं आ सकते हैं

हमें पूरा भरोसा था कि हम कभी सत्ता में नहीं आ सकते हैं

वीडियो एक टीवी चैनेले कर्लस मराठी के टॉक शो का है। जिसमें फिल्म अभिनेता नाना पाटेकर के साथ नितिन गडकरी दिखाई दे रहे हैं। इस वीडियो में नितिन गडकरी ये कहते हुए भी दिख रहे हैं, नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अवास्तविक वादे के आधार पर सत्ता में आई है। गडकरी ने यह भी कहा है 'हमें पूरा भरोसा था कि हम कभी सत्ता में नहीं आ सकते हैं। इसलिए हमें बड़े-बड़े वादे करने सुझाव दिया गया और हम यही सोचते थे कि अगर हम सत्ता में नहीं आते हैं, तो हम वैसे भी जिम्मेदार नहीं होंगे इन सब के लिए।

राहुल गांधी ने शेयर किया वीडियो

इस वीडियो में आगे गडकरी यह कहते हुए सुने जा रहे हैं कि, अब समस्या यह है कि लोगों ने हमें वोट देकर सत्ता में बिठा दिया है। अब लोग हमें तारीखों के साथ किए गए वादा याद दिलाते हैं, तो हमें सिर्फ हंसी आती है। गडकरी के इस वीडियो पर राहुल गांधी ने हमला बोलते हुए ट्विटर पर लिखा कि, सही फ़रमाया, जनता भी यही सोचती है कि सरकार ने लोगों के सपनों और उनके भरोसे को अपने लोभ का शिकार बनाया है। वहीं कांग्रेस ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि, गडकरी ने साबित कर दिया कि, मोदी सरकार झूठे वादों और जुमलों पर बनी है।

शिवसेना ने BJP को दी चेतावनी, कहा-राम मंदिर बनाओ, नहीं तो राम नाम सत्य

पहले भी मोदी सरकार की किरकिरी करा चुके हैं गडकरी

पहले भी मोदी सरकार की किरकिरी करा चुके हैं गडकरी

बता दें यह पहली बार नहीं है कि, जब गडकरी ने सरकार के खिलाफ इस तरह का बयान दिया है। इससे पहले वह रोजगार के मुद्दे पर भी सरकार के खिलाफ बयान दे चुके हैं। नितिन गडकरी ने अगस्त 2018 में एक कार्यक्रम में कहा था कि यदि आरक्षण दे दिया जाता है तो भी फायदा नहीं है, क्योंकि नौकरियां नहीं हैं। बैंक में आईटी के कारण नौकरियां कम हुई हैं। सरकारी भर्ती रुकी हुई हैं। नौकरियां कहां हैं? इस पर राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि गडकरी जी ने बिलकुल सही सवाल किया है। यही हर भारतीय सरकार से पूछ रहा है कि आखिर नौकरियां कहा हैं?

सुब्रमण्यम स्वामी भी मोदी सरकार पर उठा चुके हैं सवाल

सुब्रमण्यम स्वामी भी मोदी सरकार पर उठा चुके हैं सवाल

बीजेपी में नीतिन गडकरी ऐसे इकलौते सदस्य नहीं हैं जिनके चलते पार्टी बार-बार विपक्ष के निशाने पर आ रही है। राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी कई बार मोदी सरकार के कामकाज की आलोचना कर चुके हैं। सुब्रमण्यम स्वामी ने सितंबर महीने में कहा था कि मोदी सरकार केंद्रीय सांख्यकी संगठन (सीएसओ) के बड़े अधिकारियों पर दबाव डालकर जीडीपी के आकड़े बदला रही है। वहीं लगातार बढ़ रही तेल की कीमतों को लेकर भी स्वामी ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा था कि, पेट्रोल-डीजल की कीमतों को इतना ना बढ़ाएं कि जनता विरोध करने पर उतर आए।

Me Too: विकास को लेकर ऋतिक रौशन ने दिया बड़ा बयान, क्या 'सुपर 30' से बाहर होंगे बहल?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Congress said Gadkari had proved that the BJP government was built on jumlas and fake promises
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X