• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वीरप्प मोइली ने खुद को G-23 से बताया अलग, कहा- कुछ कांग्रेस नेता कर रहे इस ग्रुप का दुरुपयोग

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 12 सितंबर: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम वीरप्पा मोइली ने पार्टी में चल रही गुटबाजी पर सवाल उठाए हैं। रविवार को उन्होंने कहा कि कुछ नेताओं ने G-23 का दुरुपयोग किया। साथ ही उसका इस्तेमाल निहित स्वार्थ के लिए हो रहा, क्योंकि सोनिया गांधी के नेतृत्व में पार्टी में सुधार पहले से ही चल रहा था। उन्होंने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) के कांग्रेस में शामिल होने का समर्थन किया। साथ ही कहा कि जो लोग पीके का विरोध कर रहे थे, वो सुधार विरोधी हैं।

Moily

पीटीआई को दिए अपने इंटरव्यू में मोइली ने माना कि वो G-23 के सदस्य थे, लेकिन उनके जैसे कुछ नेताओं ने सिर्फ पार्टी के सुधार के लिए पत्र पर हस्ताक्षर किए थे। बाद में कुछ ने इस ग्रुप का दुरुपयोग किया। सोनिया गांधी ने जैसे ही पार्टी को अंदर से और जमीनी स्तर से सुधारने के बारे में सोचा, हमने G-23 के विचार को स्वीकार नहीं किया।

मोइली ने कहा कि अगर कुछ नेता ग्रुप G-23 के साथ बने रहते हैं, तो इसका मतलब है कि उनमें से कुछ के लिए कांग्रेस पार्टी के खिलाफ काम करने का निहित स्वार्थ है। जिसकी हम सदस्यता नहीं लेते बल्कि इसका विरोध करते हैं। कांग्रेस नेता ने ये माना कि ये ग्रुप अब कांग्रेस की विरासत को नुकसान पहुंचा रहा है। इस तरह के काम करने से विरोधियों को मदद मिलेगी।

मोइली के इस बयान को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि उन्होंने अब G-23 से दूरी बना ली है। इसके अलावा वो पार्टी हाईकमान के खिलाफ चुप हैं। हाल ही में ग्रुप के एक सदस्य जितिन प्रसाद बीजेपी में शामिल हो गए थे। वहीं पीके के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलों के बारे में पूछे जाने पर मोइली ने कहा कि उनका मानना है कि वो कांग्रेस में शामिल हों और भीतर के सुधार को करें।

कांग्रेस छोड़ने के लिए भाजपा ने मुझे पैसे की पेशकश की थी: श्रीमंत पाटिलकांग्रेस छोड़ने के लिए भाजपा ने मुझे पैसे की पेशकश की थी: श्रीमंत पाटिल

हार पर कही ये बात
वहीं पिछले कई विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। इस पर उन्होंने कहा कि हम कभी-कभी हार सकते हैं, लेकिन ये नहीं कहा जा सकता कि हम हमेशा के लिए हार जाएंगे। उदाहरण के लिए 1977 में हम हार गए, लेकिन कुछ ही सालों बाद इंदिरा जी ने तगड़ी वापसी की थी। ऐसे में सभी को मेहनत करते रहना चाहिए।

English summary
Congress leader M Veerappa Moily on G-23 misused and Prashant Kishor
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X