• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीन ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अरुणाचल यात्रा पर जताई आपत्ति, दिया ये बयान

|

नई दिल्ली। चीन बॉर्डर की सुरक्षा की समीक्षा करने अरुणाचल प्रदेश पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज बुमला पोस्ट का जायजा लिया। इस दौरान राजनाथ सिंह ने कहा कि मुझे यहां तैनात सैनिकों के साथ मिलने और बातचीत करने का मौका मिला। राजनाथ सिंह की अरुणाचल यात्रा पर चीन आपत्ति दर्ज की है। चीन ने शुक्रवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अरुणाचल प्रदेश की यात्रा पर आपत्ति जताते हुए कहा कि चीनी सरकार ने कभी भी तथाकथित पूर्वोत्तर भारतीय राज्य को स्वीकार नहीं किया है, जो कि दक्षिण तिब्बत का हिस्सा है।

China Objects to Defence Minister Rajnath Singhs Visit to Arunachal Pradesh

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि, यात्रा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि चीनी सरकार ने तथाकथित अरुणाचल प्रदेश को कभी स्वीकार नहीं किया। हम उस क्षेत्र में भारतीय अधिकारियों या नेताओं द्वारा की गई गतिविधियों का दृढ़ता से विरोध करते हैं। चीन दक्षिण तिब्बत के हिस्से के रूप में अरुणाचल प्रदेश पर दावा करता है। दोनों देशों ने 3,488 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को कवर करते हुए सीमा विवाद को सुलझाने के लिए अब तक 21 दौर की वार्ता की है।

भारतीय नेताओं के रुख को भांपने के लिए चीन अरुणाचल प्रदेश का दौरा करने के लिए नियमित रूप से वस्तुओं की आपूर्ति करता है। भारत का कहना है कि अरुणाचल प्रदेश उसका अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है और भारतीय नेता समय-समय पर राज्य का दौरा करते हैं, क्योंकि वे देश के अन्य हिस्सों में जाते हैं। चीन भारतीय नेताओं की अरुणाचल प्रदेश की यात्रा पर लगातार नजर रख रहा है। भारत का कहना है कि अरुणाचल प्रदेश उसका अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है और भारतीय नेता समय-समय पर राज्य का दौरा करते हैं, क्योंकि वे देश के अन्य हिस्सों में जाते हैं।

वहीं राजनाथ गुरुवार को दो दिनों के दौरे पर अरुणाचल प्रदेश पहुंचे थे। उन्होंने तवांग में 11वें मैत्री दिवस समारोह में कहा था- मैं भारत-चीन सीमा क्षेत्र में रहने वाले लोगों को आम नागरिक नहीं बल्कि रणनीतिक संपत्ति मानता हूं। मुझे अभी भी याद है कि जब एएन-32 विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था तो स्थानीय लोगों की मदद से हमें दुर्घटनास्थल के बारे में जानकारी मिली। अरुणाचल कॉरिडोर भारत और दक्षिण पूर्व एशिया के बीच एक भूमि सेतु का काम करेगा जो रोजगार के अवसर प्रदान करेगा और व्यापार और पर्यटन को एक गति देगा। रक्षा मंत्री के रूप में राजनाथ का अरुणाचल का यह पहला दौरा है।

महाराष्ट्र में बीजेपी ने फिर ठोंका सरकार बनाने का दावा, कहा- हम सबसे बड़ी पार्टी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China Objects to Defence Minister Rajnath Singh's Visit to Arunachal Pradesh
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X