• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

NFHS-5 सर्वे में हुआ बड़ा खुलासा,अत्यधिक दूध का सेवन करने से हो रही ये समस्‍या

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली, 19 मई: दूध हमारी सेहत के लिए सबसे बेहतर माना जाता है, लेकिन कोई भी चीज अत्‍यधिक मात्रा में नुकसान पहुंचाती है। राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण के हाल ही में हुए सर्वे में कुछ ऐसा ही खुलासा हुआ है। इस सर्वे रिपोर्ट के अनुसार अत्‍यधिक दूध का सेवन एनीमिया (nutritional anaemia) से ग्रसित कर रहा है।

एनएफएचएस के डेटा में हुआ ये खुलासा

एनएफएचएस के डेटा में हुआ ये खुलासा

एनएफएचएस जिला स्तर के अनुमानों सहित भारत के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की जनसंख्या, स्वास्थ्य और पोषण पर डेटा इकट्ठा करता है। चंडीगढ़ के लिए 'चाइल्ड फीडिंग प्रैक्टिसेज एंड न्यूट्रिशन स्टेटस ऑफ चिल्ड्रन' की प्रमुख संकेतक श्रेणी में फैक्ट शीट से पता चलता है कि चंडीगढ़ में 6 से 59 महीने की उम्र के 54.6 फीसदी बच्चे एनीमिक हैं। एनीमिया से ग्रसित महिलाओं (15 से 49 वर्ष) का प्रतिशत 60.3 है और इसी समूह में एनीमिक पुरुषों का प्रतिशत 8.1 है।

अत्यधिक दूध का सेवन एक प्रमुख कारण है

अत्यधिक दूध का सेवन एक प्रमुख कारण है

डॉ बंसल ने कहा अत्यधिक दूध का सेवन एक प्रमुख कारण है, खासकर पंजाब और हरियाणा में । 1 से 5 साल के बच्चों में दूध की खपत 500-600 मिली/दिन से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। पूरक भोजन की देरी से शुरूआत एक अन्य कारण है। एक छह महीने से अधिक उम्र के बच्चों के लिए, ठोस भोजन के सेवन में वृद्धि होनी चाहिए। इसके अलावा, आहार मुख्य रूप से कार्बोहाइड्रेट- (गेहूं, चावल) आधारित होता है, जिसमें कृमि संक्रमण एक अन्य कारक होता है ।

एनीमिया के लिए सबसे आम उम्र 6 महीने से 2 साल है

एनीमिया के लिए सबसे आम उम्र 6 महीने से 2 साल है

आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया (आईडीए) के लिए सबसे आम उम्र 6 महीने से 2 साल है, और फिर किशोरावस्था में वृद्धि के लिए आयरन की बढ़ती आवश्यकताओं के कारण हैं। डॉ बंसल ने इस बात पर जोर दिया कि आयरन सप्लीमेंट को एक जीवनचक्र दृष्टिकोण का पालन करना होगा क्योंकि यह शैशवावस्था में शुरू होता है और लड़कों के लिए किशोरावस्था के अंत तक और लड़कियों के लिए वयस्कता में जारी रहता है।

जानें क्‍या होता है एनीमिया

जानें क्‍या होता है एनीमिया

एनीमिया एक चिकित्सीय स्थिति है जिसमें लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या या हीमोग्लोबिन (एचबी) सामान्य से कम होता है और यह लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में कमी के कारण होता है। पुरुषों में इसका स्‍तर 13.5 ग्राम100 मिलीलीटर है और महिलाओं में ये स्‍तर 12.0 ग्राम100 मिलीलीटर है।

जानें क्‍यों होता है एनीमिया

जानें क्‍यों होता है एनीमिया

विशेषज्ञों का कहना है कि एनीमिया तब होता है जब शरीर के अंगों तक ऑक्सीजन ले जाने के लिए पर्याप्त स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाएं नहीं होती हैं, और सामान्य लक्षण थकावट, कमजोरी, पीली त्वचा और चक्कर आना हैं। एनीमिया के विभिन्न प्रकार होते हैं, लेकिन सबसे आम है आयरन की कमी वाला एनीमिया। पीजीआई के डॉ दीपक बंसल, प्रोफेसर, पीडियाट्रिक हेमेटोलॉजी-ऑन्कोलॉजी यूनिट के अनुसार, भारत में पोषण संबंधी एनीमिया में तेजी से बढ़ोत्‍तरी के कई कारक जिम्मेदार हैं।

बच्‍चों को 20 मिलीग्राम आयरन की गोली और सिरप जरूर पिलाएं

बच्‍चों को 20 मिलीग्राम आयरन की गोली और सिरप जरूर पिलाएं

भारत सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार, चार महीने से 19 वर्ष तक के सभी बच्चों को नियमित रूप से आयरन सप्लीमेंट मिलना चाहिए। महिलाओं के लिए आयरन सप्लीमेंट को 45 साल तक जारी रखा जाना चाहिए। दूध में ग्लूकोज बिस्कुट पोषण प्रदान नहीं करते हैं और बोतल से दूध पिलाने के बीच के सेट को बदलना पड़ता है। साथ ही बच्चों को सप्ताह में दो बार 20 मिलीग्राम आयरन की गोली और सिरप जरूर पिलाएं। कुछ राज्यों में आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे गेहूं और चावल उपलब्ध कराए जा रहे हैं। मजबूत आयोडीन नमक की तरह, इन्हें भी बढ़ावा देने की जरूरत है।

वैज्ञानिकों ने ढूढ़ निकाला धरती जैसा हरियाली से भरा दूसरा ग्रह, जानिए वहां क्‍या हम पहुंच पाएंगे?वैज्ञानिकों ने ढूढ़ निकाला धरती जैसा हरियाली से भरा दूसरा ग्रह, जानिए वहां क्‍या हम पहुंच पाएंगे?

Comments
English summary
Big disclosure in NFHS-5 survey, this problem is caused by consuming too much milk
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X