• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वैक्सीन ट्रायल के दौरान वॉलिंटियर की मौत पर भारत बायोटेक ने दी सफाई

|

नई दिल्ली। भारत बायोटेक ने कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान हुई भोपाल के एक प्रतिभागी की मौत पर सफाई दी है। दवा कंपनी ने कहा कि वॉलिंटियर को वैक्सीन ट्रायल के सभी नियम और शर्तों के बारे में पूरी जानकारी दी गई थी और वैक्सीन देने के अगले 7 दिनों तक की गई देखरेख में उसका हालचाल लिया गया था। उस दौरान कंपनी ने उसके स्वास्थ्य को पूरी तरह फिट पाया। कंपनी ने आगे कहा कि प्रतिभागी ने तीसरे चरण के ट्रायल के लिए किए गए पंजीकरण में ट्रायल के सभी मानकों को पूरा किया था।

Bharat Biotech

क्या है पूरा मामला

    Bhopal: Corona Vaccine का ट्रायल डोज लेने के 9 दिन बाद वालंटियर की मौत, जांच शुरु | वनइंडिया हिंदी

    आपको बता दें कि दवा कंपनी भारत बायोटेक ने हाल ही मैं अपनी कोरोना वायरस की वैक्सीन का तीसरे चरण किया था। अपने तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान ट्रायल में शामिल भोपाल निवासी दीपक मारावी की वैक्सीन लेने के 9 दिन बाद मौत हो गई थी। पीड़ित के परिजनों का कहना है कि मारावी की मौत वैक्सीन लेने से हुई है।

    वहीं,खबर की मानें तो देश के करीब 26 लोगों पर यह ट्रायल किया गया था, जिसमें दीपक मारावी भी शामिल था। हालांकि किसी और व्यक्ति ने वैक्सीन लेने के बाद किसी प्रकार की परेशानी की बात नहीं कही है। वहीं मारावी के परिजन का कहना है कि मृतक के घरवालों को इस बात की कोई जानकारी नहीं थी कि उसने कोरोनो वैक्सीन ली थी और उसके पास वैक्सीनेशन से जुड़ा कोई कागज भी नहीं मिला है। वहीं पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दीपक की मौत का कारण हार्ट अटैक बताया गया था।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Bharat Biotech clarifies Volunteer's death during a vaccine trial
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X