• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
LIVE

Ayodhya Verdict: सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला- विवादित जमीन पर रामलला का हक, मुस्लिम पक्ष को मिलेगी अलग जमीन

|

नई दिल्ली। बहुचर्चित अयोध्या भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने आज अपना फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट ने सर्वसम्मति से शिया वक्फ बोर्ड और निर्मोही अखाड़े के दावे को खारिज कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए विवादित जमीन को रामलला विराजमान को देने का फैसला किया। साथ ही कोर्ट ने सुन्नी वक्फ बोर्ड को दूसरे स्थान पर 5 एकड़ जमीन देने का फैसला सुनाया। सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता में 5 जजों की संविधान पीठ ने 40 दिनों की मैराथन सुनवाई के बाद 16 अक्टूबर को अयोध्या मामले में अपना फैसला सुरक्षित कर लिया गया था।

पढ़ें इस बड़ी खबर लाइव अपडेट

Newest First Oldest First
1:24 PM, 9 Nov
केके मुहम्मद, ASI के पूर्व अधिकारी- ASI द्वारा निकाले गए पुरातात्विक और ऐतिहासिक साक्ष्यों के आधार कोर्ट इस नतीजे पर पहुंचा कि वहां एक भव्य मंदिर था और हमें एक बार फिर से नए मंदिर का निर्माण करना चाहिए।
1:22 PM, 9 Nov
सूत्रों के मुताबिक- गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यों की सुरक्षा की समीक्षा के लिए देश के सभी मुख्यमंत्रियों से बात की और उनसे कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर बात की
1:20 PM, 9 Nov
श्री श्री रविशंकर- यह एक ऐतिहासिक फैसला है, मैं इसका स्वागत करता हूं। यह मामला लंबे समय से चल रहा था और आखिरकार एक निष्कर्ष पर पहुंच गया है
1:03 PM, 9 Nov
पीएम मोदी का ट्वीट- यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा। हमारे देश की हजारों साल पुरानी भाईचारे की भावना के अनुरूप हम 130 करोड़ भारतीयों को शांति और संयम का परिचय देना है। भारत के शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की अंतर्निहित भावना का परिचय देना है।
1:03 PM, 9 Nov
पीएम मोदी का ट्वीट-सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है: यह बताता है कि किसी विवाद को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है। हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया। न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया।
1:03 PM, 9 Nov
पीएम मोदी का ट्वीट- देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें।
12:53 PM, 9 Nov
कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है, हम राम मंदिर के निर्माण के पक्ष में हैं। इस फैसले ने ना केवल मंदिर के निर्माण के लिए दरवाजे खोले बल्कि इस मुद्दे का राजनीतिकरण करने के लिए भाजपा और अन्य लोगों के लिए दरवाजे भी बंद कर दिए।
12:53 PM, 9 Nov
मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के कमाल फारुकी ने कहा, इसके बदले हमें 100 एकड़ जमीन भी दे दे तो कोई फायदा नहीं है। हमारी 67 एकड़ जमीन पहले ही अधिगृहीत की जा चुकी है तो हमको दान में क्या दे रहे हैं वो? हमारी 67 एकड़ लेने के बाद 5 एकड़ जमीन दे रहे हैं, ये कहां का इंसाफ है?
12:49 PM, 9 Nov
जफरयाब जिलानी- यदि हमारी समिति सहमत होती है तो हम एक समीक्षा याचिका दायर करेंगे
12:16 PM, 9 Nov
अयोध्या पर सुप्रीम फैसले के बाद शहर की सुरक्षा और कड़ी की गई। सुरक्षाकर्मी शहर में फ्लैग मार्च कर रहे हैं
12:10 PM, 9 Nov
फैसले का सम्मान करें लेकिन संतोषजनक नहीं है। इस पर कहीं भी किसी प्रकार का कोई प्रदर्शन नहीं होना चाहिए- जफरयाब जिलानी
12:09 PM, 9 Nov
ये एक ऐतिहासिक निर्णय, जनता से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं- राजनाथ सिंह
11:46 AM, 9 Nov
जफरयाब जिलानी- हम फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन हम संतुष्ट नहीं हैं, हम आगे की कार्रवाई तय करेंगे
11:42 AM, 9 Nov
नितिन गडकरी- सभी को सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को स्वीकार करना चाहिए और शांति बनाए रखना चाहिए।
11:42 AM, 9 Nov
नीतीश कुमार- सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सभी को स्वागत करना चाहिए, यह सामाजिक समरसता के लिए फायदेमंद होगा
11:40 AM, 9 Nov
इकबाल अंसारी- हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं। यह राज्य सरकार के ऊपर है कि वह हमें कहां जमीन देती है। यह हिन्दुस्तान के लिए बहुत बड़ा मसला था जिसका निपटारा होना जरूरी था, मैं फैसले से खुश हूं
11:25 AM, 9 Nov
वरुण कुमार सिन्हा,वकील हिंदू महासभा- यह एक ऐतिहासिक फैसला है। इस फैसले के साथ, सर्वोच्च न्यायालय ने विविधता में एकता का संदेश दिया है
11:24 AM, 9 Nov
विष्णु शंकर जैन, वकील हिंदू महासभा- कोर्ट ने कहा अयोध्या में सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन दी जाए
11:21 AM, 9 Nov
सुप्रीम कोर्ट का फैसला
सुप्रीम कोर्ट का आदेश- अयोध्या में 5 एकड़ जमीन का एक उपयुक्त वैकल्पिक भूखंड सुन्नी वक्फ बोर्ड को दिया जाए
11:21 AM, 9 Nov
सुप्रीम कोर्ट का आदेश- 3-4 महीने के भीतर सेंट्रल गवर्नमेंट ट्रस्ट की स्थापना के लिए योजना तैयार करे और विवादित स्थल को मंदिर के निर्माण के लिए सौंप दे
11:16 AM, 9 Nov
सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला
सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, रामलला विराजमान को दी जाएगी विवादित जमीन
11:14 AM, 9 Nov
सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में कहा कि मुस्लिम पक्ष जमीन पर दावा साबित करने में नाकाम रहा है
11:10 AM, 9 Nov
हिंदू हमेशा से मानते थे कि भगवान राम का जन्मस्थान आंतरिक प्रांगण में है, ये स्पष्ट रूप से स्थापित है कि मुसलमानों ने आंतरिक आंगन के अंदर नमाज की और हिंदुओं ने बाहरी प्रांगण में पूजा की
11:03 AM, 9 Nov
सुप्रीम कोर्ट- हिंदुओं ने राम चबूतरा पर पूजा करना जारी रखा लेकिन उन्होंने गर्भगृह पर भी स्वामित्व का दावा किया
11:01 AM, 9 Nov
इस बात के प्रमाण हैं कि अंग्रेजों के आने से पहले राम चबूतरा, सीता रसोई की पूजा हिंदुओं द्वारा की जाती थी, इस तथ्य से पता चलता है कि हिंदूओं का विवादित भूमि के बाहरी हिस्से पर कब्जा था- सुप्रीम कोर्ट
11:01 AM, 9 Nov
इस बात के प्रमाण हैं कि अंग्रेजों के आने से पहले राम चबूतरा, सीता रसोई की पूजा हिंदुओं द्वारा की जाती थी, इस तथ्य से पता चलता है कि हिंदूओं का विवादित भूमि के बाहरी हिस्से पर कब्जा था- सुप्रीम कोर्ट
10:58 AM, 9 Nov
सुप्रीम कोर्ट ने कहा- आस्था के आधार पर जमीन के मालिकाना हक का फैसला नहीं होगा
10:52 AM, 9 Nov
सीजेआई- हिंदू अयोध्या को भगवान राम की जन्मभूमि मानते हैं, उनकी धार्मिक भावनाएं हैं, मुसलमान इसे बाबरी मस्जिद कहते हैं
10:52 AM, 9 Nov
सीजेआई- हिंदुओं की आस्था और विश्वास है कि भगवान राम का जन्म गुंबद के नीचे हुआ था, आस्था निजी विश्वास का विषय है
10:46 AM, 9 Nov
सुप्रीम कोर्ट के सीजेआई- भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण विभाग संदेह से परे है और इसके निष्कर्षों की उपेक्षा नहीं की जा सकती है
READ MORE

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Supreme Court verdict on Ayodhya land dispute case live updates
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X