• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

फैसलों पर अपमानजनक टिप्पणी से आंध्र हाईकोर्ट नाराज, दिए CBI जांच के आदेश

|

नई दिल्ली: अदालत के फैसले को लेकर की गई टिप्पणी पर आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट ने नाराजगी जताई है। साथ ही इस मामले की जांच सीबीआई को करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट के मुताबिक उन सभी लोगों के लिए खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए, जिन्होंने अदालत के आदेश को गलत तरीक से प्रस्तुत किया है। साथ ही वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के 49 नेताओं को नोटिस भेजा गया है। हाल ही में सीएम जगनमोहन रेड्डी ने हाईकोर्ट के जज की शिकायत भारत के मुख्य न्यायधीश से की थी।

court

दरअसल एक वकील द्वारा याचिका दायर किए जाने के बाद हाईकोर्ट ने सोशल मीडिया पोस्ट का संज्ञान लिया। पहले तो कोर्ट ने राज्य सरकार को इसकी जांच करने के लिए कहा था, लेकिन सीआईडी ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया, जिस वजह से कोर्ट ने मामले में सीबीआई जांच का आदेश दे दिया। कोर्ट ने इस मामले की रिपोर्ट देने के लिए सीबीआई को 8 हफ्ते का वक्त दिया है। साथ ही कहा कि सीबीआई को उन सबके खिलाफ मामला दर्ज करना चाहिए, जिन्होंने जजों की निंदा की। साथ ही कोर्ट के आदेश को सोशल मीडिया पर गलत तरीके से प्रस्तुत किया।

अवमानना मामले में दोषी प्रशांत भूषण ने 1 रुपए के जुर्माने के खिलाफ SC में दायर की याचिका

सीएम ने की थी शिकायत

आपको बता दें कि हाल ही में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस को एक पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के एक वरिष्ठ जज राज्य की चुनी हुई सरकार के खिलाफ साजिश रच रहे हैं। साथ ही आरोप लगाया है कि जज विपक्षी दल तेलुगु देशम पार्टी की तरफ से काम कर रहे हैं। पत्र में पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और हाईकोर्ट के जज के संबंधों का भी जिक्र था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Andhra High Court Orders CBI Probe in defamatory Comment on the court decision
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X