• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कभी अखिलेश यादव ने की थी मायावती की प्रतिमाओं की आलोचना, अब पड़े नरम

|

नई दिल्ली। एक समय था जब समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव यूपी में राज्य की धनराशि की मदद से प्रतिमाएं लगवाने के लिए मायावती को फटकारा था, आज वही अखिलेश यादव सुप्रीम कोर्ट की तीखी टिप्पणी के बाद अपने गठबंधन की साथी पर नरम पड़ गए हैं। शनिवार को मीडिया के सवालों पर जवाब देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे इस बारे मे पूरी जानकारी नहीं है। हो सकता है कि अदालत ने कुछ टिप्पणियां की हों। बीएसपी के वकील अदालत में अपना पक्ष रखेंगे।

Akhilesh Yadav soft on Mayawati after a scriticised by the Supreme Court on the statues issue

बता दें इस मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा था कि लखनऊ और नोएडा में बनाए गए पार्टी के प्रतिक के साथ-साथ खुद और हाथियों की प्रतिमाओं को लगाने में जनता का पैसा इस्तेमाल किया गाया है इसलिए मायावती को वह पैसा वापस करना चाहिए। आपको ये भी बता दें कि इन मुर्तियों के जांच के आदेश भी तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दिए थे। उन्होंने कहा था कि बीएसपी शासन में 40 हजार करोड़ का घोटाला हुआ है।

लेकिन जब इन मुर्तियों पर सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए सवाल उठाया तो अखिलेश यादव बीजेपी पर हमलावर हो गए। वही लखनऊ के लोक भवन में योगी आदित्यनाथ सरकार की ओर से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 25 फीट की प्रतिमा लगाए जाने की योजना पर अखिलेश यादव ने कहा कि हम वहां सपा नेता राम शरण दास की प्रतिमा भी स्थापित करेंगे। बता दें कि आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर यूपी में सपा-बसपा एक साथ मैदान में उतरने का फैसला किया है। दोनों ने बराबर-बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान भी किया है।

सहारनपुर में जहरीली शराब पीने से 36 लोगों की मौत, 30 गिरफ्तार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Akhilesh Yadav soft on Mayawati after a scriticised by the Supreme Court on the statues issue
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X