अखिलेश, लालू और करुणानिधि से छिन सकती है VVIP सुरक्षा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत में चार तरह की सुरक्षा वीआईपी लोगों को मुहैया कराई जाती हैं। जो मुख्य रूप से Z प्लस, Z, Y और X हैं। केंद्र सरकार तमाम उन लोगों को जिन्हें जेड कैटेगरी की सुरक्षा मुहैया कराई गई है, उसे वापस लेने की तैयारी कर रही है। इसमें कई नेता शामिल हैं, जिसमें मुख्य रूप से एम करुणानिधि, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और लालू प्रसाद यादव का भी नाम शामिल हैं।

lalu-akhilesh

गृह मंत्रालय के प्रोटेक्शन रिव्यू ग्रुप द्वारा यह प्रस्ताव भेजा गया है, जिसे गृह मंत्री राजनाथ सिंह हरी झंडी दे सकते हैं। आपको बता दें कि हर वर्ष लोगों को दी गई सुरक्षा की समीक्षा की जाती है। इस समीक्षा के दौरान जिन लोगों की सुरक्षा मुहैया कराई गई है उनकी सुरक्षा की समीक्षा की जाती है। मौजूदा समय में 15 नेताओं को यह सुरक्षा मुहैया कराई गई है, जिन्हें एनएसजी के कमांडो सुरक्षा देते हैं। जिसमे खुद गृहमंत्री राजनाथ सिंह, एलके आडवाणी भी शामिल हैं। इनकी सुरक्षा में 40 जवान, बुलेट प्रूफ गाड़ी और दो स्कॉर्ट वाहन मुहैया कराए जाते हैं।

इसे भी पढ़ें- मोदी सरकार में कितने लोगों को मिली हुई है HiFi सुरक्षा, चौंका देंगे आंकड़े

गृह विभाग के सूत्र का कहना है कि नेताओं की सुरक्षा को कम करना हमेशा से ही मुश्किल भरा रहा है, इसको लेकर काफी राजनीतिक दबाव रहता है। यही नहीं कई वीआईपी के खिलाफ यह भी शिकायत आई है कि वह सुरक्षाकर्मियों से अभद्रता भी करते हैं। केंद्र और राज्य सरकार तमाम लोगों को सुरक्षा मुहैया कराती है और समय के साथ इसकी समीक्षा भी करती है, यह सुरक्षा एक्स से लेकर जेड कैटेगरी की हो ती है। जेड कैटेगरी में कुल 30 जवान तैनात होते हैं, जबकि वाई कैटेगरी में 11 जवान होते हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Akhilesh Yadav M Karunanidhi and Lalu yadav to lose Z category security. Home ministry to review the security cover.
Please Wait while comments are loading...