• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पाकिस्तान ने PoK के 200 लोगों को आतंकी ट्रेनिंग कैंप में भेजा, दुनिया की आंख में धूल झोंकने की बड़ी साजिश

|

नई दिल्ली- भारत में आतंकियों की घुसपैठ करवाने के लिए पाकिस्तान बहुत बड़ी साजिश में जुट गया है। खबरों के मुताबिक अब उसने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के स्थानीय लोगों को चुनकर देश के अलग-अलग आतंकी ट्रेनिंग कैंप्स में पहुंचाना शुरू कर दिया है। पाकिस्तान का मकसद जल्द से जल्द दहशतगर्दों की एक नई फौज तैयार कर कश्मीर घाटी की फिजा में आग लगाने की कोशिश करना है।

कश्मीरियों को ही हथियार थमाने की चाल

कश्मीरियों को ही हथियार थमाने की चाल

इकोनॉमिक टाइम्स में छपी एक खबर के मुताबिक सुरक्षा बलों को हाल ही में एक रिपोर्ट मिली है, जिसके मुताबिक पाकिस्तान ने पीओके से 150 से 200 स्थानीय लोगों को चुनकर देश के आतंकी ठिकानों पर पहुंचाया है और उन्हें जल्द ही प्रशिक्षत करके तैयार करने को कहा है। माना जा रहा है कि आतंकियों की ये फौज जम्मू-कश्मीर में दहशत फैलाने, दहशतगर्दों की तादाद बढ़ाने और वहां स्थानीय लोगों का समर्थन बढ़ाने के लिए तैयार की जा रही है। पाकिस्तान ये चाल इसलिए चल रहा है ताकि कश्मीर में कश्मीरियों को उतारकर दुनिया के सामने यह साबित किया जा सके कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद वहां की स्थानीय समस्या है। ये खबर इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि हाल के दिनों में सुरक्षा बलों के ऑपरेशन के कारण कश्मीर में आतंकियों की संख्या बहुत ही कम हो गई है और वे फिलहाल लीडरलेस रह गए हैं।

कश्मीर में शांति से बिलबिला उठा पाकिस्तान

कश्मीर में शांति से बिलबिला उठा पाकिस्तान

जम्मू-कश्मीर से विशेषाधिकार खत्म करने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के बावजूद पिछले दो दिनों से जिस तरह इलाके में शांति का वातावरण कायम है, उससे भी पाकिस्तान बिलबिलाया हुआ है। सुरक्षा बलों को इस बात का पूरा अंदाजा है कि पाकिस्तान शांति भंग करने के लिए कुछ न कुछ हरकत जरूर करने की कोशिश करेगा। भारतीय पोस्ट पर कवर फायर करके आतंकियों को भारत में घुसपैठ करवाने की उसकी कोशिश वैसे भी लगातार जारी है। इसका बड़ा उदाहरण केरन सेक्टर का है,जहां हाल ही में घुसपैठ की कोशिश कर रहे पाकिस्तान के बोर्डर ऐक्शन टीम (बीएटी) के 5 से 7 जवानों को भारतीय सुरक्षा बलों ने मार गिराया था। बाद में भारत ने पाकिस्तान को डेड बॉडी ले जाने की भी छूट दी थी, लेकिन पाकिस्तान इस डर से उन्हें अपनी तरफ नहीं ले गया, क्योंकि वे उन्हें स्वीकार करने की भूल नहीं करना चाहता था। एक अधिकारी के मुताबिक इन हरकतों का संकेत यही है कि पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में हुए बदलाव से हताश है और चक्कर में पड़ चुका है।

घाटी से आगरा भेजे गए 20 और अलगाववादी

घाटी से आगरा भेजे गए 20 और अलगाववादी

इस बीच सरकार ने 20 और अलगाववादियों को जम्मू-कश्मीर की जेलों से आगरा जेल में शिफ्ट कर दिया है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। जानकारी के मुताब इन लोगों का इतिहास समस्या पैदा करने वाला रहा है और ये कई अलगाववादी गतिविधियों में शामिल रहे हैं। शुक्रवार को एयरफोर्स के विशेष विमान के जरिए इन्हें कश्मीर से आगरा लाया गया। कश्मीर से बाहर भेजे गए इन लोगों पर अलगाववादी समूह के सक्रिय सदस्य होने का आरोप है। इन्हें आगरा के सेंट्रल जेल में रखा जाएगा। इससे पहले 25 अलगाववादियों को गुरुवार को ही कश्मीर से आगरा शिफ्ट किया गया था। इनमें कश्मीर हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मियां कय्यूम भी शामिल हैं। मियां कय्यूम के अलावा कश्मीर चैंबर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारी मुबीन शाह को भी कश्मीर से आगरा भेजा गया है। कय्यूम अलगाववादियों की ओर से कई मुकदमे लड़ चुके हैं।

इसे भी पढ़ें- इमरान के बौखलाहट भरे कदम से पाकिस्तान की टूटी कमर, डूबे 1 लाख करोड़इसे भी पढ़ें- इमरान के बौखलाहट भरे कदम से पाकिस्तान की टूटी कमर, डूबे 1 लाख करोड़

English summary
200 PoK Locals sent to terrorist camps by pakistan to infiltrat in india
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X