• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वंदे भारत मिशन का पहला चरण रहा सफल, 13 हजार से ज्यादा लोगों को लाया गया वापस

|

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से दुनिया के सभी देश बुरी तरह प्रभावित हैं। अभी तक इसकी कोई दवा या वैक्सीन नहीं बन पाई है, जिस वजह से ज्यादातर देशों ने अपनी सीमाएं सील कर लॉकडाउन का ऐलान कर रखा है। बड़ी संख्या में भारतीय भी दूसरे देशों में फंसे हुए हैं। जिनको निकालने के लिए भारत सरकार ने वंदे भारत मिशन लांच कर रखा है। इस मिशन के तहत अब तक 13 हजार लोगों को अलग-अलग देशों से वापस लाया गया है।

lockdown

मामले में नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि 16 मई को दूसरे देशों में फंसे 812 लोगों को एयरलिफ्ट किया गया। इसमें न्यूयार्क से 121 यात्री हैदराबाद, 328 लोग लंदन से दिल्ली, 181 लोग दुबई से कोच्चि और 182 लोग अबू धाबी से तिरुअनंतपुरम लाए गए। इसके अलावा कई अन्य देशों से लोगों को निकालने का काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि वंदे भारत मिशन के पहले चरण में 13 हजार से ज्यादा लोगों को भारत वापस लाया गया है। इस मिशन को भारत सरकार ने 7 मई को शुरू किया था। भारतीय नौसेना भी दूसरे देशों में फंसे लोगों को वापस लाने का काम कर रही है।

क्या दिल्ली में छिपाए जा रहे मौत के आंकड़े?, कोरोना मरीज के डेथ सर्टिफिकेट में वजह लिखी कार्डियक अरेस्ट

22 मई तक चलेगा दूसरा चरण

वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण 16-22 मई तक चलेगा। इस दौरान 31 देशों में फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए 149 विमानों का संचालन किया जाएगा। इस चरण में केरल में 31, दिल्ली में 22, कर्नाटक में 17, तेलंगाना में 16, गुजरात में 14, राजस्थान में 12, आंध्र प्रदेश में 9, पंजाब में 7, बिहार और उत्तर प्रदेश में 6-6 उड़ानों की लैंडिंग होगी। वहीं ओडिशा में तीन, चंडीगढ़ में दो और जम्मू-कश्मीर, जयपुर, मुंबई और मध्य प्रदेश में एक-एक विमानों की लैंडिंग का प्लान है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
More than 13,000 people have returned to india underVande Bharat Mission
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X