• search
हैदराबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राकेश टिकैत अब तेलंगाना में बोले- कृषि कानूनों को रद्द करने से समाधान नहीं होगा, हमें MSP चाहिए

|
Google Oneindia News

हैदराबाद। भारतीय किसान यूनिय​न (भाकियू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत तेलंगाना आए। यहां राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों की वापस पर बयान दिया। राकेश टिकैत ने कहा कि, सरकार ने अपने कानूनों को वापस करने का फैसला कर लिया, लेकिन ये हमारा समाधान नहीं हैं। तेलंगाना में टिकैत ने कहा, "देश में किसानों की जो समस्या है, वह वैसी की वैसी है। जब तक केंद्र सरकार किसानों से बातचीत नहीं करेगी और एमएसपी पर क़ानून नहीं लाएगी, तब तक हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा।

Rakesh Tikait

किसान नेता राकेश टिकैत ने बताया कि, किसान आंदोलनकारियों की ओर से हमने सरकार के समक्ष मांगे रखीं हैं। सरकार उन मांगों को पूरा करे, इसके लिए उसे हमने 26 जनवरी तक का समय दिया है। हमारा धरनास्थल खाली नहीं होगा, बल्कि आने वाले 29 नवंबर को हम किसान भाइयों के साथ 60 ट्रैक्टर लेकर संसद भवन की ओर मार्च करेंगे।

राकेश टिकैत बोले- पराली जलाने से नहीं होता ज्यादा प्रदूषण, खलनायक ठहराने वाले किसानों से माफी मांगेंराकेश टिकैत बोले- पराली जलाने से नहीं होता ज्यादा प्रदूषण, खलनायक ठहराने वाले किसानों से माफी मांगें

Rakesh Tikait
    Telangana में बोले Rakesh Tikait, Farm Laws रद्द करने से समाधान नहीं होगा | Oneindia Hindi

    पत्रकारों द्वारा यह कहे जाने पर कि सरकार ने तो कानून वापस ले लिए हैं, तब उन्होंने कहा कि, हां..सरकार ने तीन कृषि क़ानूनों को रद्द करने का फ़ैसला किया है, लेकिन इससे हमारा समाधान नहीं होगा। हमारा समाधान एमएसपी की गारंटी मिलने पर होगा। सरकार को किसानों से बात करनी होगी।

    सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद बोले राकेश टिकैत- हाईवे हमने नहीं पुलिस ने ब्लॉक कर रखा है, हमें भी परेशानी है, वो ब्लॉकेज हटाएंसुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद बोले राकेश टिकैत- हाईवे हमने नहीं पुलिस ने ब्लॉक कर रखा है, हमें भी परेशानी है, वो ब्लॉकेज हटाएं

    'किसानों का पूरा समर्थन मिला'
    किसान संगठनों के "भारत बंद" को लेकर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि, हमारा 'भारत बंद' सफल रहा। उन्होंने कहा कि, हमें किसानों का पूरा समर्थन मिला। टिकैत ने कहा कि, हम शुरू से कहते आ रहे हैं कि सरकार बातचीत करे..हम सरकार से बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन कोई बातचीत नहीं हो रही।

    English summary
    Bharatiya Kisan Union (BKU) Rakesh Tikait said- repeal of agricultural laws will not solve the problem, the govt should talk to the farmers
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X