• search
हरियाणा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हरियाणा: फसल बिक्री के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, दो दिन में 3574 किसानों ने बेचा गेहूं

|

नई दिल्ली। हरियाणा सरकार ने किसानों को मंडियों में अपनी फसल बेचने के लिए एक बार फिर से रजिस्ट्रेशन करवाने का मौका दिया है। फंसल बिक्री के लिए एक बार फिर से पंजीकरण शुरू हो चुकी है, जिसमें खुद को पंजीकृत करवाकर किसान अपनी फंसल को मंडियों में उचित मूल्य पर बेच सकते हैं। सरकार ने फसल बेचने के लिए पंजीकरण कराने का एक और मौका दिया है।

Good News for Harayanas Farmers: Registration for crop sale started, 3574 Farmers Sold their Crop

सरकार की इस योजना के तहत किसानों के लिए 'मेरी फसल, मेरा ब्योरा' पोर्टल पर शनिवार से फिर पंजीकरण शुरू हो गया। पहली अप्रैल से शुरू हुए रबी खरीद सीजन 2021-22 के पहले 2 दिनों में 3574 किसानों ने ढाई लाख क्विंटल गेहूं मंडियों में बेचा। सरकारी एजेंसियों ने इसकी खरीद की।

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने बताया कि जो किसान किसी कारणवश अपना पंजीकरण पहले नहीं करवा पाए थे, वे शीघ्र पंजीकृत हो सकते हैं। अगले सप्ताह अपना गेहूं मंडी में लाने वाले किसान ई-खरीद पोर्टल पर शेड्यूलिंग कर लें, वे अपनी इच्छा अनुसार मंडी व तिथि का चयन कर सकते हैं। किसान संबंधित मंडी के सचिव, मार्केट कमेटी या मंडी के कॉल सेंटर से संपर्क कर भी अपना शेड्यूल तय कर सकेंगे।

उन्होंने बताया कि सरकार किसानों की फसल का हर दाना खरीदने के लिए वचनबद्ध है। भुगतान सीधे किसान के खातों में पहुंचाना सुनिश्चित करेंगे। मंडियों में फसल खरीद के लिए उचित प्रबंध किए गए हैं। किसानों को कोई दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। फसल खरीद में कोताही करने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खुद खरीद की समीक्षा कर रहे हैं। अधिकारी फसल खरीद की अदायगी किसानों को तय समय के भीतर सुनिश्चित करें।

हरियाणा सरकार का तोहफा, अगर सैलरी रुकी तो अगले महीने 500 रु अधिक मिलेगा वेतन

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Good News for Harayana's Farmers: Registration for crop sale started, 3574 Farmers Sold their Crop
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X