• search
गया न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

गया: होली की खुशी मातम में बदली, होलिका दहन के बाद लुकबारी फेंकने में तीन बच्चों की मौत

|

गया। रविवार को होलिका दहन के बाद लुकबारी फेंकने गए बच्चों के साथ बिहार के गया के एक गांव में बड़ा हादसा हो गया। पहाड़ी पर झाड़ी में आग लगने से वहां बच्चे फंस गए। आग में झुलसने से तीन बच्चों की मौत हो गई। एक बच्चा गंभीर रूप से घायल है जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है। हादसे के बाद गांव में मातम फैल गया। बच्चों की मौत से परिवारों में कोहराम मच गया। घटना बोधगया थाना क्षेत्र के मनकोसी गांव की है।

Three children no more in fire during holi festival

मनकोसी गांव के राहुल नगर टोला के बच्चे होलिका दहन के बाद लुकबारी फेंकने के लिए पहाड़ी की तरफ चले गए। पहाड़ी पर सूखी झाड़ियां थीं जिसमें लुकबारी से आग लग गई। झाड़ी में लगी आग तेजी से फैल गई और बच्चों को वहां से निकलने का रास्ता नहीं मिला। जानकारी के मुताबिक, चार बच्चों ने आग के बीच से निकलकर जान बचाने की कोशिश की लेकिन वे लपटों की चपेट में आ गए और बुरी तरह झुलस गए। तीन बच्चों की मौत हो गई वहीं एक की हालत अस्पताल में गंभीर बताई जा रही है।

इस हादसे में तीन परिवारों के चिराग बुझ गए। उनकी पहचान 12 वर्षीय रोहित कुमार पुत्र कलेश्वर मांझी, 13 वर्षीय नंदलाल मांझी पुत्र बाबूलाल मांझी और 12 वर्षीय उपेंद्र कुमार पुत्र पिंटू मांझी के तौर पर की गई है। मोराटाल पंचायत की उपमुखिया गीता देवी का 12 साल का बेटा रितेश कुमार गंभीर रूप से जख्मी है। तीनों बच्चों का अंतिम संस्कार परिजनों ने कर दिया है। घटना की पुष्टि करते हुए बोधगया थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर मितेश कुमार ने कहा कि इस बारे मे अभी तक थाने में कोई शिकायत नहीं मिली है।

Shilpi Meena RAS : राजस्थान में होली पर पिता से मिलने जा रहीं आरएएस शिल्पी मीणा की रास्ते में मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Three children no more in fire during holi festival
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X