• search
फैजाबाद / अयोध्या न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

फैजाबाद में एक ऐसा गांव जहां आजादी के बाद से लोगों ने नहीं किया मतदान, जानिए वजह

|

Faizabad news, फैजाबाद। फैजाबाद लोकसभा क्षेत्र का एक ऐसा भी गांव है जहां के लोग आजतक मतदान नहीं किया। लोगों ने लोकतंत्र के उत्सव में भाग नहीं लिया और सबसे बड़ी विडंबना यह की आजादी के इन 70 सालों में ना तो जनप्रतिनिधि ने ध्यान दिया और ना ही जिला प्रशासन व चुनाव आयोग ने। पीढ़ी दर पीढ़ी गुजर गई लेकिन किसी ने चुनाव चिन्ह पर मुहर नहीं लगाया। गांव के सैकड़ों मतदाता ना तो प्रधान चुनते हैं ना तो विधायक चुनते हैं और ना ही सांसद चुनते हैं। लोकतंत्र के उत्सव को ये लोग दूर से ही नमस्कार करते हैं। जी हां, यही सच है।

इसलिए नहीं जाते वोट डालने

इसलिए नहीं जाते वोट डालने

देश ने इस वर्ष 70 वां गणतंत्र दिवस मनाया और 17वीं लोकसभा का गठन करने जा रहा है, इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश में विधानसभा के साथ ही पंचायतों के भी कई चुनाव हो चुके हैं। ऐसे में यदि किसी एक गांव के 100 से अधिक मतदाताओं ने देश की आजादी से लेकर अब तक मतदान ही नहीं किया। यह बात चौंकाने वाली बात है। फैजाबाद लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत मिल्कीपुर विधानसभा क्षेत्र स्थित गद्दोपुर ग्राम सभा का यह बोधी तिवारी पुरवा है, जहां सामान्य वर्ग से जुड़े जाति विशेष के लोग गद्दोपुर गांव नहीं जाते और इसी गांव में मतदान केंद्र है। बताते हैं कि गद्दोपुर के जमींदारों ने उनके पुरखों की बड़ी जमीन जबरन कब्जा लिया था, जिसका विरोध इनके पूर्वज ने भूख हड़ताल करके किया, जिसमें उनकी मौत हो गई और फिर उनकी मौत के बाद से अब तक संबंधित परिवार कोई भी बोधी तिवारी पुरवा का व्यक्ति गद्दोपुर नहीं गया।

मतदान केंद्र अलग करने की मांग

मतदान केंद्र अलग करने की मांग

बोधी तिवारी का पुरवा के लोगों का मतदान केंद्र गद्दोपुर में ही पड़ता है, इसलिए इनमें से कोई मतदान करने नहीं जाता। ग्रामवासियों ने हर चुनाव से पहले प्रशासन से मांग किया कि हमारा मतदान केंद्र और कहीं कर दें। जिससे हम मतदान कर सकें, किंतु लोकसभा के इस चुनाव में भी मतदान केंद्र अन्य न करके गद्दोपुर में ही किया गया है। अगर चुनाव को लेकर प्रशासनिक गतिविधियों पर ध्यान दें, तो 39 सरकारी स्तर पर और कई गैर सरकारी स्तर पर अनगिनत मतदाता जागरूकता अभियान चलाए जा चुका है। यहां तक कि एयरक्राफ्ट से मतदाता जागरूकता के पंपलेट भी लगाए गए हैं।

अधिकारियों ने अभी तक नहीं उठाया कोई कदम

अधिकारियों ने अभी तक नहीं उठाया कोई कदम

प्रशासन लगातार वर्नलेबल और क्रिटिकल मतदान केंद्रों को चिन्हित कर रहा है कि जिससे शत-प्रतिशत मतदान सुनिश्चित हो सके, ऐसे में बोधि तिवारी का पुरवा के लोगों की समस्या का समाधान ना होना प्रशासनिक क्रियाशीलता पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करता है। इस संबंध में मिल्कीपुर के एसडीएम से जब बात की गई तो उन्होंने कहा अभी 2 दिन पहले ही हमारी जानकारी में मामला आया है और अब मतदान केंद्र अलग नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा के हम सभी प्रशासनिक अमला कोशिश करेंगे के समझा-बुझाकर मतदान करा दें और चुनाव संपन्न होने के बाद बोधी तिवारी का पुरवा के लोगों के लिए नया परिसीमन करा कर मतदान केंद्र दूसरी जगह करा दें। बोधी तिवारी पुरवा के पूर्वजों की यह परंपरा आज भी उनके पीढ़ियां निभाती आ रही है।

<strong>ये भी पढ़ें-घर के सीवर टैंक में मिली लाश, हत्यारोपी बोला- मेरी बीवी से संबंध रखता था</strong>ये भी पढ़ें-घर के सीवर टैंक में मिली लाश, हत्यारोपी बोला- मेरी बीवी से संबंध रखता था

English summary
many villagers in faizabad didnt voted since independence
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X