• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

KBC 13: डिप्लोमेट मंजू सेठ के साथ गेम खेलते हुए अमिताभ को क्यों याद आईं इंदिरा?

|
Google Oneindia News

मुंबई, 17 सितंबर। सोनी टीवी पर प्रसारित होने वाले केबीसी का रोमांच पीक पर है। गुरुवार को हॉट सीट पर दिल्ली की मंजू सेठ नाम की 67 वर्षीय डिप्लोमेट हॉट सीट पर पहुंची। हालांकि वो ज्यादा लंबा खेल नहीं पाईं लेकिन जितनी देर भी वो केबीसी में रहीं वो पूरी तरह से छाई रहीं।

'प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की फोटो देखा करती थी'

'प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की फोटो देखा करती थी'

उन्होंने अपना अनुभव बांटते हुए ये भी बताया कि उनके राजदूत बनने के पीछे कारण पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी रहीं। जब वो स्कूल के दिनों में थीं तो न्यूजपेपर्स में इंदिरा जी की फोटो देखा करती थीं। तो उनके मन में भी आता था कि एक दिन मैं भी साड़ी पहन कर इस तरह से काम करूं। मेरी भी फोटो छपे। इसलिए उन्होंने सिविल परीक्षा देने का फैसला किया।

यह पढ़ें:KBC 13: गलत जवाब देकर 9 लाख 30 हजार रु हारे डिलीवरी ब्वॉय आकाश वाघमारे , जानिए क्या था सवाल?यह पढ़ें:KBC 13: गलत जवाब देकर 9 लाख 30 हजार रु हारे डिलीवरी ब्वॉय आकाश वाघमारे , जानिए क्या था सवाल?

क्या इंदिरा जी से मिलने का मौका मिला?

क्या इंदिरा जी से मिलने का मौका मिला?

जिसे सुनने के बाद अमिताभ बच्चन ने तुरंत ही उनसे पूछ बैठे कि क्या आपको कभी इंदिरा जी के साथ मिलने का अवसर मिला तो मंजू सेठ ने कहा कि हां, जब मैंने ज्वाइन किया था तो इंदिरा जी का ऑफिस साउथ ब्लॉक में ही था।

'वो पल मेरे दिल के बेहद करीब'

एक बार हम किसी मीटिंग के लिए जा रहे थे तो सामने से इंदिरा जी को लिफ्ट का वेट करते देखा। मैं उन्हें देखकर हैरान रह गईं और भावावेश में आकार मैं तुरंत उनके पास पहुंचीं और अपना परिचय दिया। वो बड़े ही प्यार से हमसे मिलीं और हमारा हाल-चाल पूछा। मंजू सेठ ने कहा कि वो पल मेरे दिल के हमेशा करीब है।

यह पढ़ें: गर्भवती हैं काजल अग्रवाल? पिछले साल गौतम किचलू से की थी शादीयह पढ़ें: गर्भवती हैं काजल अग्रवाल? पिछले साल गौतम किचलू से की थी शादी

'अमिताभ मुस्कुराए बिना नहीं रह पाए'

'अमिताभ मुस्कुराए बिना नहीं रह पाए'

जिसे सुनकर अमिताभ मुस्कुराए बिना नहीं रह पाए। सभी को पता है कि एक वक्त था जब बच्चन परिवार और गांधी परिवार एक-दूसरे का काफी करीब था। इंदिरा जी ,अमिताभ को अपने बेटे की तरह ही मानती थीं। अमिताभ और राजीव गांधी बहुत अच्छे मित्र हुआ करते थे लेकिन राजीव गांधी की मौत के बाद दोनों परिवार अब एक-दूसरे से काफी दूर हो गए हैं और आज दोनों के बीच कोई भी रिलेशन नहीं है।

सारी लाइफलाइन हो गई खत्म

सारी लाइफलाइन हो गई खत्म

मंजू सेठ की लाइफलाइन खत्म हो जाने की वजह से वो ज्यादा लंबा नहीं खेल पाईं और उन्हें मात्र 40, 000 पर ही संतोष करना पड़ा।

आइए आपको बताते हैं कि किस सवाल पर उन्होंने गेम छोड़ा?

सवाल- यह किस 'अज्ञात' भारतीय की आत्मकथा है?

चार विकल्प थे

A: खुशवंत सिंह
B: राजा राव
C: नीरद सी चौधरी
D: आरके नारायण


मंजू सेठ को उत्तर को लेकर संदेह था। उन्होंने पहले 50-50 लाइफलाइन का प्रयोग किया, जिसके बाद उनके दो विकल्प ही रह गए लेकिन फिर भी उन्हें उसका उत्तर नहीं पता था तो उन्होंने गेम छोड़ दिया।

सही जवाब था-C: नीरद सी चौधरी

    KBC 13: शो में Amitabh Bachcha बने Delivery Person, जानिए क्या थी वजह ?| वनइंडिया हिंदी

    English summary
    Former IFS officer Manju Seth take home only Rs 40K. Manju Seth also narrated the incident when she met former Prime Minister of India, Indira Gandhi in their office building. Read interesting incident.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X