• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कंगना रनौत बोली- हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री जहरीली है, जहां ना प्यार है,ना हमदर्दी

|
Google Oneindia News

मुंबई, 06 सितंबर। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत अपने बेबाक अंदाज के लिए पहचानी जाती हैं। कंगना जल्‍द ही दक्षिण भारतीय फिल्म जे जयललिता की बायोपिक थलाइवी में नजर आएंगी, जो शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है। फिल्‍म रिलीज के पहले कंगना रनौत ने दिए एक साक्षात्‍कार में अपना तमिल फिल्‍म इंडस्‍ट्री को लेकर अनुभव शेयर करते हुए कहा कि तमिल फिल्म उद्योग की तुलना में हिंदी फिल्म उद्योग 'विषाक्त' है और इसमें 'सहानुभूति' की कमी है।

बॉलीवुड में एंट्री करना चीन की महान दीवार को तोड़ने जैसा है

बॉलीवुड में एंट्री करना चीन की महान दीवार को तोड़ने जैसा है

कंगना रनौत ने कहा बॉलीवुड में प्रवेश करना चीन की महान दीवार को तोड़ने जैसा है, और उन्होंने स्वीकार किया कि क्योंकि वह दक्षिण भारत में अभी भी नई हैं इसलिए रीजनल फिल्म उद्योगों के बारे में उनका अभी बहुत सतही (superficial) दृष्टिकोण है।

Bigg Boss OTT: प्रतीक के साथ नेहा भसीन ने सारी हदें की पार, जानें पति समीरुद्दीन का रिएक्‍शनBigg Boss OTT: प्रतीक के साथ नेहा भसीन ने सारी हदें की पार, जानें पति समीरुद्दीन का रिएक्‍शन

    Kangana Ranaut ने Bollywood industry को बताया ज़हरीला, बोलीं- हर कोई गिराने में...| वनइंडिया हिंदी
    हर कोई हर किसी को नीचे खींचना चाहता है,

    हर कोई हर किसी को नीचे खींचना चाहता है,

    कंगना रनौत ने कहा YouTube पर ट्राइड एंड रिफ्यूज्ड प्रोडक्शंस को दिए इंटरव्‍यू में कहा "क्षेत्रीय सिनेमा के बारे में जो बात बहुत खास है, वह यह है कि कम से कम उन्हें कुछ सामान्य आधार मिलते हैं। वे गिरगिट हैं, और यह कुछ ऐसा है जिसके साथ वे गूंजते हैं ... जबकि हिंदी फिल्मों में, क्योंकि हम सभी मुंबई चले गए हैं, वहां बहुत विविधता है, फिर भी हमेशा थोड़ा सा तनाव होता है ... हर कोई हर किसी को नीचे खींचना चाहता है, यह बिल्कुल मदद नहीं कर रहा है।

    हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री इतनी जहरीली जगह बन गई है

    हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री इतनी जहरीली जगह बन गई है

    हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री इतनी जहरीली जगह बन गई है कि किसी भी तरह, कोई भी दूसरे व्यक्ति के लिए खुश नहीं है, और हम एक सामान्य आधार नहीं ढूंढ पा रहे हैं जिससे हम अपनी पहचान बना सकें।" 'क्षुद्र मानवीय भावनाओं में बह जाने' से बचने के लिए सामान्य आधार खोजना महत्वपूर्ण है।

    एक ऐसी जगह जहां न प्यार है, ना हमदर्दी है

    एक ऐसी जगह जहां न प्यार है, ना हमदर्दी है

    कंगना रनौत ने आगे कहा "एक ऐसी जगह जहां न प्यार है, ना हमदर्दी है, न भाईचारा है, न करुणा है, आप केवल कल्पना कर सकते हैं कि वह जगह कितनी जहरीली होगी। जबकि क्षेत्रीय सिनेमा उच्च और उच्चतर हो रहा है, और हम किसी ऐसी जगह (एक उद्योग में) की तलाश कर रहे हैं जहां लोग एक-दूसरे के लिए इतने अद्भुत हों। मुझे उम्मीद है कि यह ऐसा ही रहेगा और यहां आने वाले बहुत से लोग इसे बर्बाद नहीं करेंगे।

    एक्‍ट्रेस लीना मारिया पॉल 200 करोड़ रुपए की रंगदारी के मामले में हुईं अरेस्‍ट, जानें पूरा मामलाएक्‍ट्रेस लीना मारिया पॉल 200 करोड़ रुपए की रंगदारी के मामले में हुईं अरेस्‍ट, जानें पूरा मामला

    English summary
    Kangana Ranaut said - Hindi film industry is poisonous, where there is no love, no sympathy
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X