• search
दुर्ग न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

DURG: ऑनलाइन सट्टा Mahadev Book, Reddy Anna App से हो रहा करोड़ों का कारोबार, युवा हो रहे शिकार

Google Oneindia News

दुर्ग, 28 सितम्बर। छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन सट्टे के कारोबार पर अब लगाम लगाने की मुहिम पुलिस ने शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश के बाद दुर्ग पुलिस के द्वारा लगातार ऑनलाइन सट्टे का संचालन करने वालों पर कार्यवाही की जा रही है। दुर्ग पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संचालित महादेव बुक और अन्ना रेड्डी नाम से ऑनलाइन सट्टा लेने वाले 30 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं इसी मामले में रायपुर में भी दर्जन भर लोगों को पकड़ा है। इस कारोबार में अधिकतर पढ़े लिखे युवा शामिल हैं।

इंजीनियरिंग का छात्र भी इस कारोबार में शामिल

इंजीनियरिंग का छात्र भी इस कारोबार में शामिल

ऑनलाइन सट्टे के इस कारोबार में युवा वर्ग ज्यादा आकर्षित हो रहा है। कम समय में लाखों करोड़ों रुपये कमाने के लालच से पढ़े लिखे युवा महादेव बुक और अन्ना रेड्डी जैसे सट्टे के कारोबार में शामिल हो रहें हैं। सट्टे के नाम पर एकत्रित हुये लोगों की सूचना जब एंटी क्राईम साइबर यूनिट और सुपेला थाना की संयुक्त टीम ने कार्यवाही की और घेराबंदी कर 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों में एक इंजीनियरिंग का छात्र भी है। पुलिस ने इनके पास से कई सारे मोबाईल, लैपटॉप, सीपीयू जब्त किया है।

झोपड़ी में संचालित हो रहा था पूरा कारोबार

झोपड़ी में संचालित हो रहा था पूरा कारोबार

दुर्ग एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया है, कि महादेव ऐप में संलिप्त सेक्टर 10 निवासी अनुभव जैन एवं उसके अन्य 5 साथी कोसानाला टोल प्लाजा के पास एक नर्सरी के एक झोपड़ी में कारोबार संचालित कर रहे थे। जिसकी सूचना पुलिस को मिली। जिसके बाद विशेष टीम ने इन्हें पकड़ने में सफलता प्राप्त की है। आरोपियों के पास से 12 नग मोबाईल, 4 लेपटॉप, एक सीपीयू, 3 की-बोर्ड, एक ब्रॉडबैण्ड, 6 बैक चेकबुक, 3 नग पासबुक बरामद किया गया है।

दो दिनों पहले 24 लोगों को किया था गिरफ्तार

दो दिनों पहले 24 लोगों को किया था गिरफ्तार

दुर्ग पुलिस की एंटी क्राइम एवं सायबर यूनिट ने सभी थानों के प्रभारियों की टीम बनाकर अलग अलग थाना क्षेत्र में ऑनलाइन सट्टा, महादेव आईडी संचालित करने वालों को चिन्हित किया गया। इन आरोपियों पर पुलिस ने नजर बनाए रखा, इस बात की भनक सभी आरोपियों को लग चुकी थी, जिसके चलते वह अपना कारोबार समेटकर चेन्नई भागने वाले थे। लेकिन पुलिस ने ऐसे 24 लोगों को गिरफ्तार किया। जो ऑनलाइन सट्टा का संचालन कर रहे थे। इनके पास से 20230 रुपये नगद और लैपटॉप मोबाइल बरामद किया गया

एप्लिकेशन बेस्ड है, ऑनलाइन सट्टा का महादेव बुक एप

एप्लिकेशन बेस्ड है, ऑनलाइन सट्टा का महादेव बुक एप

दुर्ग एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया, कि महादेव बुक एक एप्लिकेशन बेस्ड सिस्टम है। इसके माध्यम से खासतौर पर युवा वर्ग पैनल बेचता है। तो कोई आईडी बनवाता है, इसके माध्यम से लोग ऑनलाईन सट्टे में पैसे लगाते हैं। जिसमे लाखो करोड़ो रुपयों का कारोबार होता है। लेकिन दुर्ग पुलिस इस नेटर्वक के ब्रांच को पहली बार तोड़ने में सफलता प्राप्त की है। और इनकी टीम किस तरह से अपने नेटवर्क का संचालन करती है। उसके लाईव डेमो को भी देखा गया है। पुलिस इसके सरगना को पकड़ने के लिए लुक ऑउट नोटिश भी जारी कर चुकी है।

Durg: जिसने दिया सहारा, उसके ही बच्चे को किया किडनैप, फिरौती मांगकर फंस गया बदमाशDurg: जिसने दिया सहारा, उसके ही बच्चे को किया किडनैप, फिरौती मांगकर फंस गया बदमाश

Comments
English summary
DURG: Online satta Mahadev Book App is worth crores of business, youth are becoming victims, 30 people cousty by police
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X