• search
दुर्ग न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Chhattisgarh: चरोदा नगर निगम पर आर्थिक संकट, 2 महीने से नहीं मिला कर्मचारियों को वेतन, कामकाज पर पड़ रहा असर

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में चरोदा नगर निगम आर्थिक संकट से जूझ रहा है। निगम के कर्मचारियों को 2 माह से वेतन का भुगतान नहीं किया गया है। जिसका असर कर्मचारियों के कामकाज पर भी देख नहीं मिल रहा है।
Google Oneindia News
charoda nigam

छत्तीसगढ़ के भिलाई के बाद अब चरोदा नगर निगम में भी आर्थिक संकट के बादल छाने लगे हैं। इस बात का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि चरोदा नगर निगम के अधिकारी और तृतीय श्रेणी कर्मचारियों को पिछले दो महीने से वेतन नहीं मिला है। जिससे अब उन्हें परिवार का खर्च चलाने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इन कर्मचारियों को वेतन का भुगतान कब होगा, इसका भी जवाब देने के लिए कोई जिम्मेदार तैयार नहीं है।

charoda nigam

पारिवारिक खर्च के संकट से जूझ रहे कर्मचारी
चरोदा नगर निगम के कर्मचारियों को वेतन नहीं मिलने से परिवारिक खर्च के संकट से गुजरना पड़ रहा है। इतना ही नहीं इस वजह से होने वाले मानसिक तनाव का उनके कामकाज पर असर पड़ रहा है। भिलाई - चरोदा नगर निगम के अधिकारी व कर्मचारियों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। पूरे महीने काम करने के बावजूद उन्हें समय पर वेतन नहीं मिल पा रहा है। कर्मचारियों ने घरेलू आवश्यकता के सामान किश्त में खरीद रखा है। राशन सहित बच्चों के पढ़ाई का भी खर्च वेतन पर टिका हुआ है।

durg

दो महीने से कर्मचारियों को नहीं मिला वेतन
चरोदा निगम के कर्मचारियों को दो महीने से वेतन नहीं मिला है। कर्मचारियों को इससे पहले सितंबर महीने का वेतन अक्टूबर में मिला था। इस तरह अब अक्टूबर और नवंबर महीने का वेतन अटका हुआ है। निगम में महीने की पहली तारीख को वेतन भुगतान खाते में किया जाता था। लेकिन पिछले दो महीने से वेतन नसीब नहीं होने से अधिकारी और कर्मचारियों को आर्थिक संकट से गुजरना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें,, Bhilai Steel Plant से भिलाई निगम को मिलेंगे 45 करोड़, खत्म होगा विवाद, सामान्य सभा में गूंजेगा मुद्दा
97 लाख का वेतन भुगतान भी नहीं कर पा रहा निगम
दरअसल भिलाई-चरोदा नगर निगम में नियमित अधिकारी व कर्मचारियों की संख्या 187 है। जिनके प्रतिमाह वेतन भुगतान में लगभग 97 लाख रुपए खर्च होते हैं। लेकिन इसके अलावा 400 प्लेसमेंट कर्मचारी और सफाई कर्मचारी भी हैं। 2008 के बाद यहां नियमित कर्मचारियों की भर्ती नहीं हुई है। यहां प्रधानमंत्री आवास योजना और सफाई के कार्य प्लेसमेंट कर्मचारियों से ही करवाए जा रहे हैं। निगम की स्थापना व्यय वहन करने में भी निगम को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
निगम के काम काज में पड़ रहा असर
हर महीने तय लक्ष्य के अनसार राजस्व की वसूली नहीं होने से निगम कोष पर असर पड़ा है। इस वजह से वेतन भुगतान में दिक्कत आ रही है। लगातार दो महीने से वेतन नहीं मिलने से अधिकारी और कर्मचारियों के काम में इसका असर देखने को मिल रहा है। इससे कार्यालयीन कामकाज में असर पड़ने लगा है।
कर्मचारी संघ की खामोशी बनी चर्चा का विषय
अधिकारी और कर्मचारियों को दो महीने से वेतन भुगतान नहीं होने के बाद भी भिलाई- चरोदा नगर निगम में किसी भी तरह का विरोध प्रदर्शन नहीं हो रहा है। खासकर कर्मचारी संघ की खामोशी समझ से परे बनी हुई है। जबकि पड़ोस के भिलाई नगर निगम में इसी तरह के मामले में कर्मचारी संघों ने खुलकर प्रदर्शन किया। लेकिन भिलाई-चरोदा में कर्मचारी संघ की ओर से इस बार वेतन भुगतान को लेकर कोई भी पहल नहीं होना चर्चा का विषय बना हुआ है।

Comments
English summary
Chhattisgarh: Economic crisis on Charoda Municipal Corporation, employees did not get salary for 2 months, impact on work
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X