• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

दिल्ली में वायु प्रदूषण कम करने के लिए लॉकडाउन लगाने से नहीं सुधरेंगे हालात, स्थाई समाधान की जरूरत- विशेषज्ञ

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 16 नवंबर। कोरोना के बाद अब बढ़ता वायु प्रदूषण दिल्लीवासियों पर सितम ढा रहा है। हाल ही में दिल्ली-एनसीआर में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक पिछले 1 हफ्ते में दिल्ली में मरीजों की संख्या में 100% का उछाल आया है। बढ़ते वायु प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए दिल्ली सरकार ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामे में बताया कि अगर दिल्ली से सटे अन्य राज्य अपने यहां लॉकडाउन लगाने पर राजी होते हैं तो वह भी राज्य में लॉकडाउन लगाने को तैयार है। वहीं, लॉकडाउन को लेकर विशेषज्ञों का मानना है कि इससे वायु प्रदूषण की स्थिति में बहुत ज्यादा सुधार होने की उम्मीद नहीं है, बल्कि उल्टा इससे आर्थिक गतिविधियां प्रभावित होंगी और पुराने हालात वापस आ सकते हैं।

air pollution

सुप्रीम कोर्ट ने दिया था लॉकडाउन का सुझाव
बता दें कि दिल्ली में वायु प्रदूषण की स्थिति पर असंतोष जताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को लॉकडाउन पर विचार करने को कहा था, जिसके जवाब में केजरीवाल ने कोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा था कि यदि अन्य पड़ोसी राज्य ऐसा करने पर सहमत हैं तो वह राजधानी में लॉकडाउन लगाने को तैयार है। हालांकि कोर्ट ने केवल दिल्ली में लॉकडाउन का सुझाव दिया था और इसके पीछ तर्क यह था कि इससे वाहनों और उद्योगों से होने वाले उत्सर्जन और सड़क की धूल पर अंकुश लगेगा।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में अब प्रदूषण का कहर, हफ्तेभर में 100% बढ़े श्वांस, खांसी के मरीज- सर्वे

लॉकडाउन से स्थिति में बदलाव की संभावना नहीं
वहीं विशेषज्ञों का मानना है कि लॉकडाउन कोई स्थाई उपाय नहीं है और इससे स्थिति के गंभीर हो जाने के बाद कोई सुधार होने की संभावना नहीं है। IIT दिल्ली के मुकेश खरे जो भंग हो चुकी पर्यावरण प्रदूषण रोकथाम और नियंत्रण प्राधिकरण के एक पूर्व विशेषज्ञ सदस्य हैं ने कहा कि यदि रिसर्च के मुताबिक प्रदूषण के स्तर पर लॉकडाउन से कोई असर पड़ता है तो ही इसे लागू करना चाहिए। उन्होंने कहा, 'हमारे पास पूर्वानुमान प्रणाली है (forecasting systems) जो बता सकती है कि हवा की गुणवत्ता कब खराब होगी और कब सही। ग्रैप (ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान) के तहत लॉकडाउन यदि आवश्यक हो और इससे कुछ फायदा हो तभी इसे लगाना चाहिए। दिल्ली सरकार का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा ने सोमवार को अदालत को बताया कि जब तक यूपी और हरियाणा के आसपास के एनसीआर क्षेत्रों में इसे लागू नहीं किया जाता है, तब तक लॉकडाउन का कोई फायदा नहीं होगा।

Recommended Video

    Delhi का AQI 'बेहद गंभीर', अगले तीन दिन तक सुधार की नहीं है उम्मीद | वनइंडिया हिंदी

    वहीं एक अन्य विशेषज्ञ ने लॉकडाउन सुझाव को एक घुटने के बल चलने वाला विचार बताया। उन्होंने कहा कि यदि ऐसा होता है तो लॉकडाउन हटने के बाद प्रदूषण के वे स्रोत एक बार फिर लौट आएंगे और यह केवल एक अस्थाई समाधान है। हमें एक पूर्णकालिक समाधान तलाशना होगा।

    Comments
    English summary
    Situation will not improve by imposing lockdown to reduce air pollution in Delhi- experts
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X