• search
दिल्ली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दिल्ली शीतल हत्याकांड: पड़ोसी से इश्क के बाद मंदिर में शादी, जानिए पूरा मामला

|

नई दिल्ली। दिल्ली के न्यू अशोक नगर में सम्मान के नाम पर एक बार फिर एक बेटी की हत्या कर दी गई। बेटी के प्रेम विवाह से खफा परिजनों ने उसकी बेरहमी से गला दबाकर हत्या की। इसके बाद लाश को कार में भरा और 80 किलोमीटर का सफर तय कर यूपी के अलीगढ़ पहुंचे। यहां जावा नहर में शव को ठिकाने लगा दिया। वारदात के 22 दिन बाद मामले का पर्दाफाश हुआ तो पुलिस भी हैरान रह गई। हत्यारे परिजनों ने कहा कि वह किसी किसी भी कीमत पर बेटी का एक ही गोत्र में प्रेम विवाह बर्दाश्त नहीं करते थे।

पड़ोसी युवक से प्यार करती थी शीतल

पड़ोसी युवक से प्यार करती थी शीतल

न्यू अशोक नगर इलाके में रहने वाली शीतल चौधरी अपने की घर के पड़ोस में रहने वाले युवक अंकित भाटी से प्यार करती थी। युवक और शीतल एक ही गोत्र के थे। घरवाले उसके खिलाफ थे, लेकिन वह युवक से बेहद प्यार करती थी। शीतल ने घरवालों की मर्जी के खिलाफ अपने ही गोत्र के युवक से प्रेम-विवाह कर लिया था, लेकिन इस बात का पता घरवालों को नहीं था। दोनों अपने-अपने घरों में रह रहे थे।

अंकित ने दर्ज करवाया शीतल के अपहरण का मुकदमा

अंकित ने दर्ज करवाया शीतल के अपहरण का मुकदमा

30 जनवरी के बाद से अंकित की शीतल से न तो मुलाकात हुई थी और न ही फोन पर बात हुई। अंकित ने 17 फरवरी को थाने जाकर शीतल के अपहरण का मुकदमा उसके परिवार के खिलाफ दर्ज करवाया। पुलिस ने मामले की जांच-पड़ताल शुरू करते हुए शीतल के परिजनों से पूछताछ की। उन्होंने बताया कि शीतल अपने फूफा के घर चली गई है। पुलिस उसकी तलाश में फूफा के घर पहुंची तो शीतल का वहां भी कुछ पता नहीं चला। शक होने पर पुलिस ने शीतल के परिजनों की कॉल डिटेल निकलवाई। इसके बाद पुलिस ने अलग-अलग ले जाकर शीतल के परिजनों से पूछताछ की, जिसके बाद मामले की पर्दाफाश हो गया।

गला दबाकर की हत्या, नहर में फेंका शव

गला दबाकर की हत्या, नहर में फेंका शव

पुलिस ने बताया कि शीतल अपने परिवार के साथ न्यू अशोक नगर इलाके में रहती थी। उसका पड़ोस में रहने वाले अंकित भाटी से तीन साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। अक्टूबर 2019 में दोनों ने चुपचाप एक मंदिर में जाकर शादी कर ली। इसके बाद दोनों अपने-अपने घरों में रहने लगे। इस बात से नाराज परिजनों ने 29 जनवरी को घर पर ही शीतल का गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद शव को कार में रखकर अलीगढ़ लेकर गए और अगले दिन वहां नहर में फेंक दिया। पुलिस ने मामले में मृतक की मां सुमन, पिता रविंद्र, ताऊ संजय, फूफा ओम प्रकाश, फूफा के बेटे परवेश और जीजा अंकित को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपितों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

दोषियों के वकील पर पहली बार बोलीं निर्भया की मां, वो इसलिए कोर्ट को गुमराह कर रहे हैं क्योंकि...

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
delhi sheetal murder case reason why family killed daughter
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X