• search

दिल्ली: तय समय-सीमा के बाद भी हुई जमकर आतिशबाजी, बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    नई दिल्ली। दिवाली के अगले दिन दिल्ली का प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। पटाखा मुक्त दिवाली मनाने की उम्मीदों को दिल्लीवालों ने धता बताकर जमकर आतिथबाजी की। तय समय-सीमा के बाद भी राजधानी दिल्ली में पटाखों का शोर चलता रहा। दिवाली के अगले दिन सुबह 5बजे के करीब दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स PM 2.5 रहा।

     Delhi Plunges Into Thick Smog As Many Skirt Diwali Cracker Curbs

    बुधवार को पटाखों की शोर में दिल्लीवालों ने दिवाली मनाई। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद निर्धारित रात 8 से 10 बजे की समय-सीमा के बाद भी दिल्ली के कई इलाकों में लोग आतिशबाजी करते नजर आए। पटाखों की वजह से दिल्ली के हवा की गुणवत्ता बुधवार की रात 'बेहद खराब की श्रेणी में पहुंच गई थी। बुधवार रात 10 बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 296 दर्ज किया गया। जबकि शाम 7 बजे एक्यूआई 281 था। आपको बता दें कि केंद्र द्वारा संचालित सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी फोरकास्टिंग एंड रिसर्च के मुताबिक एक्यूआई 319 दर्ज किया, जो ही बेहद चिंताजनत स्थिति है।

    दिवाली के देर रात आनंद विहार, आईटीओ और जहांगीरपुरी जैसे कई इलाकों में वायु की गुणवत्तचा बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच गई। वहीं मयूर विहार एक्सटेंशन, लाजपत नगर, लुटियंस दिल्ली, आईपी एक्सटेंशन, द्वारका, नोएडा सेक्टर 78 समेत कई इलाकों में हवा की गणवत्ता रात 8 बजे ही पीएम 2.5 और पीएम 10 के स्तर से ऊपर पहुंच गई। कई इलाकों में लोग देर रात पटाखे फोड़ते देखे गए। वहीं दिल्ली पुलिस के मुताबिक इस साल पटाखे फोड़ने की संख्या में कमी आई है।

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    A thick haze engulfed the national capital Wednesday night with the air quality deteriorating to the "very poor" category as Delhiites continued to burst firecrackers long after the deadline set by the Supreme Court, the authorities said.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more