• search

नहीं सुधरी दिल्ली की हवा, खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    नई दिल्ली। दिवाली के बाद भी राजधानी दिल्ली की हवा में सुधार नहीं हो रहा है। दिल्ली में हवा की क्वालिटी सुधरने का नाम नहीं ले रही है। प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। शनिवार को हवा की गुणवत्ता गंभीर स्तर पर पहुंच गई है। दिवाली पर पटाखों के धुंए के साथ-साथ पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने की वजह से राजधानी का दम घुट रहा है। एयर क्वालिटी इंजेक्ट डेटा के मुताबिक दिल्ली की हवा का PM 2.5 रहा। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी पीएम-10 की मात्रा पांच गुना ज्यादा प्रदूषित है । वहीं पीएम- 2.5 की मात्रा भी पांच गुना ज्यादा प्रदूषित है। दिल्ली आनंद विहार इलाके में एयर क्वालिटी इंडेक्ट 533 है तो वहीं श्रीनिवास पूरी के पास 422 बनी हुई है। जबकि आरके पुरम के पास AQI 278 है, जो कि बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है।

     After highest number of farm fires, Delhi in for foggy, polluted weekend

    वहीं दिल्ली में पिछले 24 घंटे में आग की गई घटनाएं सामने आई है। जिसकी वजह से हवा की गुणवत्ता और बिगड़ गई है। ताजा सफर मॉडल के अनुसार बड़े पैमाने पर भारी हवा दिल्ली की तरफ बह रही है। अगर भारी हवा दिल्ली की ओर जाएगी और यह स्थिति अगले 24 घंटों तक बनी रहेगी।

    वहीं दिल्ली सरकार ने राजधानी में प्रदूषण कम करने के लिए भारी और मध्यम वाहनों के प्रवेश पर तीन दिनों के लिए रोक लगा दी गई है। गुरुवार को रात 11 बजे से सरकार ने 11 नवंबर तक के लिए राजधानी में भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी है।

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Government agencies warned of a sharp deterioration in Delhi's air quality from its already ‘very poor' levels in the coming days after farmers in Punjab and Haryana carried out the highest number of farm fires in a single day, and a drop in temperatures increased the chances of morning fog.

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more