आखिर भारतीय इतना सोना क्यों खरीदते हैं?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बेंगलूरू। क्या आपको पता है कि भारत में ही सोना सबसे ज्यादा खरीदा जाता है। पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा सोने के गहनों की मांग भारत से ही होती है।

डिप्रेशन है धीमा-जहर, बचना है तो अपनाइए 'मस्तानी' के टिप्स

 भारतीय गृहणियां सोने की सबसे बड़ी प्रेमिका हैं, आप में से बहुत कम लोगों को मालूम होगा कि विश्व का ग्यारह प्रतिशत सोना भारतीय गृहणियों के पास मिलता है। भारत के बाद अमेरिका, जर्मनी की महिलाओं का नंबर आता है।

कौन था 'जटायु', पीएम मोदी ने क्यों दी उसके जैसे बनने की सलाह?

आंकड़े बता रहे हैं कि पूरी दुनिया में जितना भी सोने का व्यापार होता है उसका एक 25 फीसदी हिस्सा भारत के लोग ही खरीदते हैं। इसमें से सबसे ज्यादा भाग भारतीय लोग गहनों पर खर्च करते हैं।

इतना सोना क्यों खरीदते हैं भारतीय?

प्रो. वैद्यानाथन ने अपनी किताब इंडिया अनइंक के एक अध्याय में बताया है कि भारत में औरतों का पसंदीदा सोना होता है। जिसके कारण भी भारत में सोने की मांग सबसे अधिक है। भारतीय लोग सोने को एक सुरक्षित निवेश के रूप में देखते हैं और शायद इसलिए ही भारत विश्व में सोने का सबसे बड़ा उपभोक्ता है। एक सर्वे के मुताबिक साल 2012 में विश्व में 1669 टन सोने की मांग उठी थी। जिसमें से 864 टन सोना केवल भारत में ही खरीदा गया था। जबकि सबसे कम सोने की खरीदारी ब्रिटेन में की गई।

शुक्रवार मतलब मां 'लक्ष्मी' का दिन, जानिए खास बातें

सोना रखे सेहत का ख्याल

सोना एक धातु है जिसे एंटी-इन्फ़्लेमेट्री गुण होते हैं, यह उम्र को कम करता है और लोगों के अंदर नई खुशी और ऊर्जा का संचार करता है। इसलिए सदियों से भारतीय लोग सोने का प्रयोग करते आ रहे हैं, शायद उन्हें पहले से पता था कि सोना उन्हें हिट भी रखेगा और फिट भी।

धार्मिक कारण

भारत में लोग धर्म में काफी आस्था  रखते हैं, हिंदू धर्म को मानने वाले लोगों का लगता है कि सोना भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी को काफी प्रिय है इसलिए भी सोने को खरीदते हैं ताकि वो अपने ईष्ट देव को प्रसन्न कर सकें।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Many people think that Indians are gold crazy. Gold is considered an equivalent for liquid cash: Gold is highly liquid and portable as a Security or Asset. It can be converted to cash anytime when an emergency arises and is considered a friend in need.
Please Wait while comments are loading...