TIPS: इस दिवाली या धनतेरस खरीदना चाहते हैं सोने का सिक्का, तो ध्यान रखें ये 5 खास बातें

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। दिवाली आने वाली है और उससे पहले आ जाएगा धनतेरस। इस दिन बहुत से लोग सोने का सिक्का खरीदना शुभ मानते हैं और इसकी खरीददारी करते हैं। यहां आपको एक बात ध्यान देने की है कि इस दिन लोग सोने का सिक्का ही खरीदना चाहते हैं, ना कि सोने की ज्वैलरी। इस सोने के सिक्के को धनतेरस के अगले दिन दिवाली पर लक्ष्मी जी की पूजा के दौरान चढ़ाया जाता है। सोने की मांग अधिक होने के चलते बाजार में कई तरह के सोने के सिक्के आ जाते हैं। ऐसे में आपको सोना खरीदते वक्त कुछ बातें ध्यान रखनी जरूरी हैं। आज हम आपको ऐसी ही 7 बातों के बारे में बताने जा रहे हैं। अगर आप इन सात बातों का ध्यान रखते हुए सोना खरीदते हैं तो आपको किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं होगी, लेकिन अगर आपने इस बातों पर ध्यान नहीं दिया तो आपको दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

1- सोने की शुद्धता करें चेक

1- सोने की शुद्धता करें चेक

जब भी आप सोने का सिक्का या ज्वैलरी खरीदें तो उसकी शुद्धता की जांच जरूर कर लें। सबसे शुद्ध सोना 24 कैरेट का होता है, जबकि 22 कैरेट के सोने में दो हिस्सा जिंक या सिल्वर होता है। दरअसल, 24 कैरेट शुद्ध सोना कड़ा होता है लेकिन ज्वैलरी को मुलायम और अधिक टिकाऊ बनाने के लिए सोने में यह मिलावट की जाती है।

2- ऐसे करें शुद्धता को चेक

2- ऐसे करें शुद्धता को चेक

सोने की शुद्धता का सबसे बड़ा पैमाना बीआईएस का हॉलमार्क है। जिन सोने की चीजों पर हॉलमार्क का निशान ना हो, उसे ना खरीदें। हॉलमार्क भारत की इकलौती एजेंसी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) करती है, जो एक तरह की सरकारी गारंटी होती है। आपको बता दें कि सिर्फ 22, 18 और 14 कैरेट गोल्ड की ज्वैलरी पर भी हॉलमार्किंग करता है।

3- टेंपर प्रूफ पैकिंग है शुद्धता की गारंटी

3- टेंपर प्रूफ पैकिंग है शुद्धता की गारंटी

सोने के सिक्के टेंपर प्रूफ के अंदर पैके होते हैं। यही पैकिंग सोने के सिक्के की शुद्धता की सबसे बड़ी गारंटी होती है। अगर यह पैकेजिंग ना हो तो सोने का सिक्का ना खरीदें। यही कारण है कि सोने के सिक्के देखते वक्त ज्वैलर कहता है कि सिक्के से कोई छेड़छाड़ ना करें, क्योंकि अगर पैकेजिंग खराब हुई तो वह सिक्का कोई नहीं लेगा।

4- ज्वैलरी से सस्ते होते हैं सिक्के

4- ज्वैलरी से सस्ते होते हैं सिक्के

सोने से बनी ज्वैलरी के मुकाबले सोने के सिक्के सस्ते होते हैं। दरअसल, सोने के सिक्के बनाने की कीमत 4-11 फीसदी होती है। वहीं दूसरी ओर, अगर ज्वैलरी की बात की जाए तो उसकी कीमत 8-10 फीसदी होती है या फिर इससे भी अधिक होती है।

5- बैंक से सोना खरीदते समय यह रखें ध्यान

5- बैंक से सोना खरीदते समय यह रखें ध्यान

अगर आप बैंक से सोना खरीदते हैं तो यह ध्यान रखें कि बैंक आपका सोना वापस नहीं खरीदेगा। दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक के आदेश के मुताबिक कोई भी बैंक बेचा हुआ सोना वापस नहीं खरीद सकता है। जबकि ज्वैलर से सोना खरीदने में उसे वापस बेचने की सुविधा भी मिल जाती है। ऐसे में अच्छा होगा कि आप ज्वैलर से ही सोने का सिक्का खरीदें।

ये भी पढ़ें- अगर मोदी सरकार ने भारत में लागू कर दी ये व्यवस्था, तो बिना कोई काम किए ही देश के हर व्यक्ति को सालाना मिला करेंगे 2600 रुपए

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
five things to take care before buying gold coins
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.