चीन लाया FDI पर नए नियम, भारत को हो सकती है दिक्कत

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) के परिप्ररेक्ष्य में चीन ने अपनी नीतियों में बड़ा बदलाव किया है जिससे भारत को खासी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ सकता है।

5 साल की बच्ची से रेप, मंत्री के बयान पर भड़का लोगों का गुस्सा

CHINA

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक प्रधानमंत्री ली क्यांग की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला लिया गया है कि कुछ संवेदनशील उद्योगों को छोड़कर, एफडीआई के लिए अब सिर्फ पंजीकरण कराना ही आवश्यक होगा।

नहीं होगी मंजूरी की जरूरत

इस फैसले के बाद चीन में एफडीआई के लिए प्रशासनिक मंजूरी की जरूरत नहीं होगी।

चीन की ओर से लिए गए इस फैसले के बाद उसे आर्थिक सुस्ती से सामना करने में आसानी हो सकेगी।

गैलेक्सी नोट 7 के बाद अब सैमसंग वॉशिंग मशीन में भी खतरे की चेतावनी

चीन के इस फैसले को इस नजरिए से भी देखा जा रहा है कि इससे एशिया में FDI पर प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी।

ऑनलाइन कर सकेंगे आवेदन

समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने यह जानकारी भी दी कि FDI से जुड़ी नई नियमावली के संबंध में वाणिज्य मंत्रालय ऑनलाइन जानकारी उपलब्ध कराएगी।

इसमें विदेशी कंपनियां ऑनलाइन ही आवेदन कर सकेंगी और इसके अंतर्गत तीन दिन के भीतर जवाब मिलेगा।

विराट कोहली को दोहरे शतक पर ट्विटर यूजर्स ने यूं दीं बधाईयां

बता दें कि इस साल के शुरूआती 8 महीनों में चीन में FDI की दर 4.5 फीसदी बढ़ गई है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China makes new pitch for FDI, liberalises rules for firms.
Please Wait while comments are loading...