घर देने में की देरी, तो बिल्डर को देने होंगे 10.9% ब्याज के साथ पूरे पैसे वापस

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अगर आप भी उन लोगों में से हैं, जिन्हें बिल्डर समय पर घर नहीं दे रहा है तो आपके लिए एक खुशखबरी है। सरकार ने रियल एस्टेट रेगुलेशन एक्ट में बदलाव करते हुए नए नियम लागू कर दिए हैं।

home

एक साल में लगभग आधी गिर गई धोनी की ब्रांड वैल्‍यू, फिर भी हैं टॉप इंंडियन एथलीट !

नए नियमों के अनुसार, अगर बिल्डर आपको समय पर घर नहीं देता है, तो उसे आपको 10.9 फीसदी की दर से ब्याज देना होगा। इतना ही नहीं, अगर खरीददार अपने पैसे वापस चाहता है तो बिल्डर को खरीददार के पैसे 10.9 फीसदी ब्याज के साथ वापस देने होंगे। बिल्डर को सारे पैसे 45 दिनों के अंदर-अंदर देने होंगे।

अब घर बैठे ठीक कराएं वोटर ID कार्ड की गलतियां, जानें पूरी प्रक्रिया

70 फीसदी रकम अलग खाते में होगी जमा

इसके अलावा हर बिल्डर को स्टेट रेगुलेटर का साथ रजिस्टर होना जरूरी है। हर बिल्डर को प्रोजेक्ट के नाम पर लिए गए पैसों का 70 फीसदी एक अलग बैंक खाते में जमा करना होगा।

इस नियम का फायदा यह होगा कि कोई बिल्डर घर के नाम पर जमा किए पैसों का इस्तेमाल अपने किसी अन्य प्रोजेक्ट में नहीं कर सकेगा। साथ ही बिल्डर उसी अनुपात में पैसे निकाल सकेगा, जिस अनुपात में प्रोजेक्ट का निर्माण पूरा हो गया है।

आपको बता दें कि कई बार ये देखा गया है कि बिल्डर आपको घर देने के नाम पर किसी प्रोजेक्ट के तहत पैसा लेते थे और अपने किसी दूसरे प्रोजेक्ट में लगा देते थे। ऐसे में कई बार उन्हें प्रोजेक्ट डिलीवर करने में अक्सर देरी हो जाती थी।

SBI ने दिया 7000 एटीएम का ऑर्डर, जानिए क्या खास होगा इनमें

खरीददार को भी देना होगा 10.9 फीसदी ब्याज

नए नियम के अनुसार किसी भी खरीददार की शिकायत का निपटारा रियल एस्टेट अथॉरिटी और अपीलेट ट्रब्यूनल द्वारा 60 दिनों के अंदर-अंदर कर दिया जाएगा।

वहीं दूसरी ओर अगर किसी बिल्डर का किसी खरीददार पर कुछ बकाया है तो वह उसकी वसूली भी 10.9 फीसदी ब्याज के हिसाब से ही करेगा। आपको बता दें कि अभी तक बिल्डर खरीददार की तरफ से भुगतान में देरी करने पर 15-18 फीसदी ब्याज वसूलते थे। ऐसे में खरीददार को यहां पर भी नए नियमों के तहत राहत दी गई है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Builders to pay 10.9 percent interest for delay in house delivery
Please Wait while comments are loading...