• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

YES बैंक घोटाले से अन्य बैंकों के ग्राहक भी परेशान, बैंक प्रबंधन का भरोसा चिंता की कोई बात नहीं

|

नई दिल्ली। निजी सेक्टर की चौथी सबसे बड़ी बैंकों में शुमार YES BANK बर्बादी की कगार पर पहुंच चुकी है। बैंक की माली हालत को देखते हुए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कई पाबंदियां लगा दी है। यस बैंक के खाताधारकों को 50000 रुपए से अधिक की निकासी पर रोक लगा दी है। बैंक के खाताधारक नकदी संकट से गुजर रहे हैं। लोग परेशान है। यस बैंक के शाखाओं और एटीएम के बाहर खाताधारकों की लंबी लाइनें लगी है। वहीं Yes Bank के बाद 3 और बैंकों पर खतरा मंडराने लगा है। लोग अपने पैसे की सुरक्षा को लेकर परेशान हो गए हैं।

YES Bank खाताधारकों के लिए राहत की खबर: RTGS की जरिए कर सकेंगे 2 लाख से ज्यादा का पेमेंट

 YES बैंक के बाद इन खाताधारकों की बढ़ी टेंशन

YES बैंक के बाद इन खाताधारकों की बढ़ी टेंशन

यस बैंक के बाद कोटेक महिंद्रा, कर्नाटक बैंक, करूर वैश्य बैंक पर मुश्किल बढ़ने लगी है। हालांकि कर्नाटक बैंक ने जमाकर्ताओं को उनके पैसे की सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया है। बैंक ने कहा है कि उनके पास पर्याप्त पूंजी है और खाताधारकों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। बैंक ने खाताधारकों को भरोसा दिलाया है कि देश भर के 1.1 करोड़ से अधिक संतुष्ट ग्राहकों के भरोसे पर बैंक चल रही है। बैंक की बुनियाद मजबूत है और बैंक के पास पर्याप्त पूंजी है। बैंकों के दोनों बैंकों ने भी अपने खाताधारकों को आश्वस्त कर ने की कोशिश की है। यस बैंक के डूबने से के बाद से कर्नाटक बैंक ,कोटक महिंद्रा, आरबीएल बैंक और करुर वैश्य बैंक के खाताधारक परेशान हो गए हैं। वहीं बैंकों के प्रबंधनों ने भी बुधवार को बयान जारी करते हुए अपने ग्राहकों को मीडिया में चल रही खबरों पर भरोसा न करने की अपील की है और कहा है कि उनके पास पर्याप्त नकदी है।

कोटेक महिंद्रा बैंक के खाताधारक परेशान

कोटेक महिंद्रा बैंक के खाताधारक परेशान

आपको बता दें कि यस बैंक के डूबने के बाद सोशल मीडिया पर खबरें आने लगी कि इसी बैंक के असर के कारण निजी क्षेत्र के आरबीएल बैंक भी संकट में आ गई है। खबर फैलने के बाद से आरबीएल के खाताधारक परेशान हो गए हैं। लोग अपने खाते से पैसा निकालने लगे। आरबीएल बैंक ने लोगों को भरोसा दिलाया कि उनके पास पर्याप्त फंड है। ग्राहकों को चिंतिंत होने की जरूरत नहीं है। आरबीएल बैंक ने बताया कि उसके पास नकदी की स्थिति अच्छी है और इसमें बढ़ोतरी हो रही है। बैंक का प्रबंधन पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

 करूर वैश्य बैंक और कोटेक महिंद्रा बैंक के खाताधारकों की परेशानी बढ़ी

करूर वैश्य बैंक और कोटेक महिंद्रा बैंक के खाताधारकों की परेशानी बढ़ी

निजी क्षेत्र के करूर वैश्य बैंक और कोटेक महिंद्रा के खाताधारकों को भी डर सताने लगा है। लोग बैंकों पर पहुंचने लगे। लोगों के डर को देखते हुए बैंक ने बयान जारी कर ग्राहकों को भरोसा दिलाया और कहा कि उनकी पूंजी आधार ठीक है और वह एक लाभ कमाने वाला बैंक है। वहीं करूर वैश्व बैंक ने भी कहा कि अपने 104 साल के इतिहास में बैंक निरंतर लाभ में रहा है। बैंक ने कहा कि जमाकर्ताओं को घबराने की कोई जरूरत नहीं है। उनकी पूंजी बैंक में पूरी तरह से सुरक्षित है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After Yes Bank Crisis, Kotak Mahindra, Karnataka Bank and Karur Vysya Bank tension raise, Depositors in fear.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X