• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

बेगूसरायः बीच हाइवे पर एंबुलेंस ड्राइवर के दोनों हाथों का काटा नस फिर पिलाया एसिड और घोंट दिया गला

|

बेगूसराय। मंगलवार को बिहार के बेगूसराय जेल के एंबुलेंस ड्राइवर की सुभाष चौक के पास एनएच 31 पर निर्ममता से हत्या कर दी। ड्राइवर बीमार कैदी को पीएमसीएच पटना छोड़कर वापस जेल लौट रहा था। इसी दौरान पहले से घात लगाए अपराधियों ने एंबुलेंस को रुकवाया फिर ड्राइवर को गाड़ी से उतारा और पहले उसके दोनों हाथ का नस काट दिया। इसके बाद उसे जबरन एसिड पिलाया और रस्सी से गला घोंट दिया। अपराधी उसे मरा हुआ समझकर चले गए।

begusarai prison ambulance driver brutally murdered

फिर पुलिस की पेट्रोलिंग टीम ने खून से लथपथ ड्राइवर को बीच सड़क पर देखा तो उसे आनन-फानन में अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने घटना की जानकारी मृतक ड्राइवर के परिजनों को दी और शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। मृतक एंबुलेंस ड्राइवर की पहचान 40 वर्षीय धर्मेंद्र रजक के रूप में हुई है, जो बेगूसराय के नगर थाना क्षेत्र के मोहम्मदपुर वार्ड नंबर 38 का रहने वाला था। धर्मेंद्र मंडल कारा में सरकारी एंबुलेंस चालक था।

मृतक धर्मेंद्र के बेटे संदीप कुमार ने बताया कि सोमवार की रात 9 बजे पापा ने फोन कर जानकारी दी थी कि वो एक कैदी को पटना पीएमसीएच लेकर जा रहे हैं मंगलवार की सुबह घर लौटेंगे। आज सुबह पुलिस ने पिता की हत्या की सूचना दी तो हर कोई दंग रह गया। वहीं हत्या की घटना को लेकर धर्मेंद्र के परिजनों का कहना है कि उसकी किसी से भी कोई दुशमनी नहीं थी।

बीते 23 मार्च को उसकी स्कार्पियो चोरी हो गई थी, तबसे थोड़ा परेशान चल रहा था। परिजनों ने गुहार लगाई है कि अपराधियों ने बेरहमी से उसकी हत्या की है। पुलिस इस मामले को गंभीरता से ले और हत्यारे को जल्द से जल्द गिरफ्तार करे।

अलवर : देवर से करनी लगी प्यार तो चार लाख की सुपारी देकर उसी से करवाई पति की हत्या

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
begusarai prison ambulance driver brutally murdered
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X