India
  • search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

MP पंचायत चुनाव में बुरी तरह हारे विधानसभा अध्यक्ष के बेटे, कांग्रेस बोली- उल्टी गिनती शुरू

|
Google Oneindia News

रीवा 26 जून: मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष गिरीश गौतम के पुत्र राहुल गौतम रीवा जिला पंचायत वार्ड क्रमांक 27 से चुनाव हार गए हैं। उन्हें चुनाव हराने वाला कोई और नहीं उन्हीं का चचेरा भाई और विधानसभा अध्यक्ष का भतीजा पद्मेश गौतम है। पद्मेश ने राहुल को सीधे मुकाबले में 1400 वोटों से हराया है।

Girish Gautam

भतीजे ने हराया

विधानसभा अध्यक्ष को घर में हार का सामना करना पड़ा है। जिला पंचायत के रण में इस बार विधानसभा अध्यक्ष के बेटे राहुल गौतम और भतीजे पद्मेश गौतम एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरे थे। जहां कांग्रेस के उम्मीदवार पद्मेश गौतम ने जीत हासिल की है। मजे की बात यह है कि पिछले चुनाव में दोनों अलग-अलग जिला पंचायत का चुनाव लड़कर हार का स्वाद चख चुके थे।

Girish Gautam 1

विधानसभा अध्यक्ष की प्रतिष्ठा दांव में थी

gautam

इस बार के जिला पंचायत चुनाव में विधानसभा अध्यक्ष बनने के बाद से गिरीश गौतम की प्रतिष्ठा से जोड़कर देखा जा रहा था। राजनीतिक नजर से वार्ड-27 का चुनाव दिलचस्प हो गया था। ये हार-जीत देवतालाब क्षेत्र की राजनीति की दिशा तय करती है। आपको बताते चलें कि स्पीकर के बेटे राहुल गौतम भारतीय जनता पार्टी मे जिला उपाध्यक्ष का अहम दायित्व भी है। जबकि उनके बड़े भाई के बेटे पद्मेश गौतम कांग्रेस पार्टी से जुड़े हुए हैं।

राज्य सभा सांसद ने किया कटाक्ष

vivek

गिरीश गौतम के बेटे की हार पर कांग्रेस के नेता कटाक्ष कर रहे है। राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विवेक तंखा ने ट्वीट करते हुए विधानसभा अध्यक्ष पर तंज कसा है। विवेक तंखा ने ट्वीट करते हुए लिखा की गौतम जी, माननीय स्पीकर एमपी विधानसभा कभी भाजपा विचारधारा के थे ही नहीं। केवल पार्टी के मेंबर हैं। एमपी में शिवराज जी और भाजपा के विरुद्ध लहर है। 2023 की गिनती मेरे मत में शुरू हो चुकी हैं।

पारिवारिक संग्राम के केंद्र है देवतालाब

देवतालाब क्षेत्र विधानसभा 2008 से भाजपा की टिकट पर गिरीश गौतम लगातार विधायक बन रहे हैं। इस बार वे विधानसभा अध्यक्ष भी बन गए। लेकिन अब उनकी उम्र 70 वर्ष पार करने वाली है। ऐसे में उनको अनुमान था, कि 2023 की टिकट की गारंटी उम्र के इस पड़ाव में कम है। तो वे देवतालाब विधानसभा क्षेत्र को एक ऐसा राजनीतिक चेहरा देना चाहते थे जो उनकी विरासत को उन्हीं की तर्ज पर आगे ले जा सके। इस लिहाज से वे बेटे राहुल गौतम से उम्मीद लगा बैठे।

क्षेत्र में यह चर्चा है

क्षेत्रीय चर्चा अनुसार इस हार के पीछे विधानसभा अध्यक्ष की लगातार गिरती साख और जनाधार को बताया है।उनका कहना है कि कुछ दिन पहले ही एक वीडियो में विधानसभा अध्यक्ष कहते नजर आ रहे थे कि गांव पंचायत में आप मतदान नहीं करना और आप अगर मतदान नहीं करोगे तो क्या हम चुनाव नहीं जीत पाएंगे।

मतदान केन्द्रों के मतो के आंकड़ो से

जिला पंचायत के वार्ड क्रंमाक 27 के प्रत्याशी पद्मेश गौतम अपने प्रतिद्वंदी राहुल गौतम से चुनाव जीत चुके हैं। यह पूरा आंकड़ा मतदान केन्द्रो से मिले मतो के अनुसार है। लेकिन निर्वचन आयोग द्वारा अधिकृत औपचारिक घोषणा 15 जुलाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें- खर्च के बावजूद भी लोगों को नहीं मिला मास्क-सैनिटाइजर, बूथों पर उड़ी कोविड नियमों की धज्जियांयह भी पढ़ें- खर्च के बावजूद भी लोगों को नहीं मिला मास्क-सैनिटाइजर, बूथों पर उड़ी कोविड नियमों की धज्जियां

Comments
English summary
Assembly Speaker's son lost badly in MP Panchayat elections, Congress said - countdown begins
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X