• search
इलाहाबाद / प्रयागराज न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

बाहुबली अतीक अहमद को नैनी सेंट्रल जेल में शिफ्ट करने की तैयारी, फूलपुर से लड़ सकते हैं चुनाव

|

प्रयागराज। बाहुबली नेता अतीक अहमद को नैनी सेंट्रल जेल स्थानांतरित करने की तैयारी हो रही है। अतीक को बरेली जेल से नैनी जेल स्थानांतरित करने के लिए चुनाव आयोग से परमीशन मांगी गयी है। एडीजी जेल चंद्र प्रकाश ने इसकी पुष्टि की है। अतीक को जेल से स्थानांतरित करने के पीछे जो आधिकारिक कारण बताया जा रहा है वह अतीक के स्वास्थ्य को लेकर है।

अतीक की पत्नी ने शासन को लिखा पत्र

अतीक की पत्नी ने शासन को लिखा पत्र

अतीक अहमद की पत्नी ने स्वास्थ्य के आधार पर अतीक शासन को पत्र लिखा था। पत्र में कहा गया था कि मुकदमों की सुनवाई के लिए अतीक को सैकडों किलो मीटर वाहन से ले आना और ले जाना होता है। ऐसे में उनकी तबीयत और बिगडती जा रही है। शासन ने अतीक की पत्नी के इसी पत्र पर निर्णय लिया और अतीक को बरेली से प्रयागराज शिफ्ट करने की तैयारी शुरू कर दी है। जिसके लिये चुनाव आयोग से परमीशन मांगी गयी है। आयोग से आधिकारिक आदेश आते ही अतीक प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल में स्थानांतरित कर दिया जायेगा।

प्रयागराज आने के मायने

प्रयागराज आने के मायने

फिलहाल शासन की ओर से अतीक का प्रयागराज आना भले ही एक विधिक प्रक्रिया के तहत किया जा रहा हो। लेकिन इसके सियासी माइने साफ नजर आने लगे हैं। संभावनाएं हैं कि अतीक अहमद एक बार फिर से चुनाव मैदान में होंगे। सांसदी का चुनाव लडने के लिये उन्हें किसी दल ने अभी तक टिकट नहीं दिया है, ऐेसे में वह एक बार फिर से निर्दलीय चुनाव लडेंगे। हालांकि अतीक के चुनाव लड़ने की कोई आधिकारिक घोषणा अभी तक नहीं हुई है।

बदल सकते हैं समीकरण

बदल सकते हैं समीकरण

अतीक अहमद चुनावी समीकरण बदलने वाले प्रत्याशी माने जाते हैं। वह जब भी चुनाव लडे उन्होंने चुनाव को प्रभावित किया और अपनी उपस्थिति दर्ज करायी। फिलाहल सपा बसपा गठबंधन से उम्मीदवार बनने की संभावनाएं पिछले कुछ दिनों से खूब बनी, लेकिन कोई फैसला ना आने से संभावनाएं अंधेरे में ही जीवंत है। हालांकि टिकट मिलने पर अतीक फूलपुर लोकसभा क्षेत्र में तुरप का इक्का साबित हो सकते थे। क्योंकि उन्हें मुस्लिमों को पूरा समर्थन है, यानी अतीक के प्रत्याशी होने की दशा में मुस्लिम वोटों का पूरी तरह से धुव्रीकरण हो जाता है। हालांकि जब अतीक को टिकट नहीं मिलता दिख रहा है और उनके फिर से निर्दलीय लडने की संभावना है तो ऐसे में मुस्लिम वोटों में बिखराव और सपा को कमजोर करने की स्थिति बननी तय है।

ये भी पढ़ें:-उत्तर प्रदेश की लोकसभा चुनाव की विस्तृत कवरेज

नैनी से भेजे गये थे देवरिया

नैनी से भेजे गये थे देवरिया

अतीक अहमद की प्रयागराज में गिरफ्तारी हाईकोर्ट के कडे रूख के बाद हुई तो उन्हें नैनी सेंट्रल जेल में बंद कर दिया गया था। यहां जेल के अंदर अतीक का दरबार लगने लगा और प्रशासन बैक फुट पर रहा तो अतीक की ताकत कम करने के लिए उन्हे देवरिया जेल शिफ्ट किया गया। हालांकि जेल के अंदर मारपीट के मामले ने सुर्खियां बटोरी तो अतीक को बरेली जेल में शिफ्ट किया गया और अब वापस माफिया डान अतीक को प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल ले आने की तैयारी की जा रही है।इस बावत एडीजी जेल ने चंद्र प्रकाश ने बताया कि अतीक की पत्नी के पत्र पर चुनाव आयोग से अनुमति मांगी गयी है। आदेश मिलते ही अतीक शिफ्ट किया जायेगा।

ये भी पढ़ें:-गैंगरेप मामले में पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को झटका, MP-MLA स्पेशल कोर्ट ने जमानत देने से किया इन्कार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
shift bahubali atiq ahmad at naini central jail in prayagraj
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X