• search
आगरा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

योगी सरकार ने जिस संग्रहालय का बदला था नाम, वहां पहुंचकर अखिलेश यादव ने किया यह बड़ा ऐलान

|

आगरा। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में होने है, उससे पहले पार्टियां अपने-अपने पक्ष में माहौल बनाने में जुट गई है। तो वहीं, किसान आंदोलन के समर्थन में सड़क पर उत्तरे समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व पूर्व मुख्ममंत्री अखिलेश यादव भी जनमत को अपनी तरफ मोड़ने के लिए प्रयासरत है। इसीक्रम में अखिलेश यादव आगरा पहुंचे और यहां मुगल म्यूजियम का दौरा किया।

ex chief minister akhilesh yadav visits mughal museum

बता दें, बीते सितंबर में प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने आगरा में सपा सरकार के समय शुरू किए गए मुगल संग्रहालय का नाम बदलकर छत्रपति शाहूजी महाराज कर दिया था। म्यूजियम का नाम बदलने के तीन महीने बाद अखिलेश यादव ने वहां का दौरा किया। दौरे के साथ ही सपा अध्यक्ष ने ट्वीट करते हुए ऐलान कि, 'आगरा में सपा के समय शुरू हुआ मुगल म्यूजियम सपा सरकार आने पर राष्ट्रीय एकता एवं 'बहुधर्मी साझी विरासत' के नाम से जाना जाएगा। आने वाले समय में सपा इसमें महाराज अग्रसेन, राजमाता जीजाबाई, छत्रपति शिवाजी महाराज व शहीद भगत सिंह जी की प्रतिमा ससम्मान लगवाएगी। इस ट्वीट के बाद सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई है।

इसी के साथ अखिलेश यादव ने मुगल म्यूजियम का निरीक्षण करते हुए तस्वीरें भी साझा की है। तो वहीं, अपने दूसरे ट्वीट में अखिलेश यादव ने कहा, 'भाजपा सरकार आगरा के विकास को लेकर लापरवाही बरत रही है। नये म्यूजियम, आगरा कैफे, आगरा मेट्रो व इनर रिंग रोड, ताजगंज का सौंदर्यीकरण जैसे सपा काल में शुरू हुए काम अधूरे पड़े हैं, इसीलिए आगरा विश्व मंच पर नहीं आ पा रहा है और आगरा में काम, कारोबार, रोज़गार, अर्थव्यवस्था सब ठप्प है।'

ये भी पढ़ें:- अगर ताजमहल का करना चाहते है दीदार तो आगरा आने से पहले जरूर पढ़ लें यह खबर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ex chief minister akhilesh yadav visits mughal museum
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X