India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

ग्रहों को क्रोधित कर सकते हैं अस्त-व्यस्त कपड़े

By Gajendra Sharma
|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 22 जुलाई। कपड़ों से इंसान के स्वभाव और उसके अच्छे-बुरे रहन-सहन का पता चलता है। कोई इंसान जब हमसे मिलता है तो सबसे पहले हम उसके कपड़ों से ही उसके अच्छे या बुरे होने का अनुमान लगाते हैं। वास्तव में कपड़े ही हैं तो मनुष्य को समाज में रहने लायक बनाते हैं। ज्योतिष शास्त्र भी कहता है कियदि आपके कपड़े अस्त-व्यस्त हैं, फटे हैं, अधिक पुराने हैं या साफ-स्वच्छ नहीं हैं तो आपके ग्रह आपसे क्रोधित हो सकते हैं।

ग्रहों को क्रोधित कर सकते हैं अस्त-व्यस्त कपड़े

आइए जानते हैं विस्तार से

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कपड़ों पर बृहस्पति और शनि ग्रह का आधिपत्य होता है। यदि आपके गंदे, फटे, पुराने कपड़े पहनते हैं तो शनि और बृहस्पति दोनों ग्रहों को क्रोधित कर सकते हैं। इससे आपकी आर्थिक उन्नति अवरूद्ध हो सकती है, आपका स्वास्थ्य खराब हो सकता है और आपके सारे कार्य बिगड़ सकते हैं।

Lehsunia stone: लहसुनिया कब और किन्हें करना चाहिए धारण, क्या है नियम?Lehsunia stone: लहसुनिया कब और किन्हें करना चाहिए धारण, क्या है नियम?

कैसे कपड़े नहीं पहनें

  • फटे हुए कपड़े पहनने से दरिद्रता आती है।
  • कपड़े साफ-स्वच्छ नहीं हैं तो आपकी प्रत्येक क्षेत्र में उन्नति रूक सकती है।
  • अत्यधिक पुराने, घिसे हुए, रंग उड़े हुए कपड़े पहनने से शनिदेव कु्रद्ध होते हैं।
  • कपड़ों पर सिलवटें हैं, खराब हैं, दाग लगे हुए हैं तो इससे बृहस्पति की कृपा रूक जाती है।
  • दूसरों के कपड़े बिल्कुल न पहनें। दूसरों के चप्पल-जूते भी नहीं पहनने चाहिए।

कैसे कपड़े पहनना चाहिए

  • कपड़े हमेशा साफ-स्वच्छ धुले हुए पहनें।
  • कपड़े हमेशा अपने आकार-प्रकार के अनुसार ही पहनें। न अधिक ढीले न चुस्त।

Comments
English summary
Chaotic clothes can make the planets angry, here is in deatails.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X