नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष का देशभर में प्रदर्शन का ऐलान, 28 नवंबर से होगी शुरूआत

विपक्षी पार्टी के सांसदों का कहना है कि चर्चा के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद में मौजूद हों। प्रदर्शन के दौरान विपक्षी पार्टी के सांसदों ने मानव श्रृंखला बनाकर अपना विरोध जताया।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। नोटबंदी पर विपक्ष का विरोध जारी है। संसद में प्रदर्शन और मानव श्रृंखला बनाकर विरोध जताने के बाद विपक्षी सांसदों ने देशभर में प्रदर्शन की योजना बनाई है।

parliament

28 नवंबर से देशभर में प्रदर्शन की तैयारी

नोटबंदी पर विपक्ष ने अपनी नई रणनीति बनाई है। इसके तहत आगामी सोमवार यानी 28 नवंबर से विपक्ष देशभर में प्रदर्शन की तैयारी की है। इसके तहत देशभर में प्रदर्शन, धरना और विरोध मार्च निकाला जाएगा।

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि हम नोटबंदी पर अलग-अलग मार्च करेंगे और एक साथ फैसले का विरोध करेंगे।

उन्होंने कहा कि सरकार के नोटबंदी के कदम से अब तक 74 लोगों के मारे जाने की खबर है। ये सभी गरीब और जरूरतमंद हैं।

नोटबंदी पर घमासान जारी

सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने मांग की है कि 30 दिसंबर तक लोगों को पुराने नोट इस्तेमाल करने के आदेश दिए जाएं। उन्होंने इन नोटों को मान्य करार दिया जिससे लोग अपनी जरूरतें पूरी कर सकें।

नोटबंदी के बाद आया पहला सर्वे, जानिए क्या है मोदी सरकार का हाल

नोटबंदी पर सरकार के फैसले के खिलाफ कांग्रेस समेत प्रमुख विपक्षी पार्टियां लगातार विरोध प्रदर्शन में जुटी हुई हैं। इस बीच संसद परिसर में करीब 200 विपक्षी सांसदों ने धरना दिया।

विपक्षी सांसद एक सुर में सरकार के नोटबंदी के फैसले का विरोध कर रहे हैं। संसद परिसर में मौजूद गांधी प्रतिमा के सामने उन्होंने प्रदर्शन के साथ विरोध की तख्तियां बुलंद की।

विपक्षी पार्टी के सांसदों का कहना है कि नोटबंदी के फैसले पर चर्चा होनी चाहिए। साथ ही चर्चा के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद में मौजूद हों। प्रदर्शन के दौरान विपक्षी पार्टी के सांसदों ने मानव श्रृंखला बनाकर अपना विरोध जताया।

संसद में सांसदों ने बनाई मानव श्रृंखला

बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र अभी तक हंगामे और विरोध के चलते ठीक ढंग से नहीं चल सका है। संसद में अभी तक एक दिन की भी कार्रवाई ठीक से नहीं चल सकी है।

बड़ी राहत, अब को-ऑपरेटिव बैंको से किसानों को मिलेगा पैसा

विपक्ष, सरकार के नोटबंदी के फैसले पर चर्चा चाहता है। लेकिन उसकी मांग है कि इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सदन में मौजूद रहें।

कई ऐसे मौके आए हैं जब विपक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। उनका कहना है कि प्रधानमंत्री विभिन्न मोर्चों पर इस मुद्दे पर बोल रहे हैं लेकिन संसद में आने से बच रहे हैं। आखिर वो संसद के सामने नोटबंदी पर चुप्पी क्यों नहीं तोड़ रहे?

प्रधानमंत्री संसद में आएं और नोटबंदी का ऐलान करें: डी राजा

प्रदर्शन कर रहे सांसदों ने संसद परिसर में सरकार के खिलाफ मानव श्रृंखला बनाई। उन्होंने संसद में मौजूद गांधी प्रतिमा के समीप प्रदर्शन किया।

PM मोदी पर भड़के केजरीवाल, पूछा- बिग बाजार से क्या डील हुई है?

प्रदर्शन के दौरान सीपीआई सांसद डी राजा ने कहा कि हमारी बस एक ही मांग है कि प्रधानमंत्री संसद में आएं और नोटबंदी के फैसले का ऐलान करें।

इससे पहले कांग्रेस पार्टी समेत कई अन्य पार्टियों के सांसदों ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संसद आने की अपील की है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Leaders of Opposition parties protest against Govt demonetisation in Parliament premises.
Please Wait while comments are loading...