बदबूदार टॉयलेट के मामले में कोलकाता फर्स्ट, दिल्ली दूसरे नंबर पर

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। जहां एक ओर पीएम मोदी स्वच्छ भारत अभियान चला रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर हाल ही में हुए एक सर्वे ने देश की एक और तस्वीर दुनिया के सामने रखी है। तस्वीर भी ऐसी, जो स्वच्छ भारत अभियान पर सवाल खड़ा कर दे।

toilet

हाल ही में हुए एक सर्वे के मुताबिक कोलकाता के पब्लिक टॉयलेट सबसे अधिक बदबूदार हैं। वहीं इसके बाद दूसरा नंबर आता है देश की राजधानी दिल्ली का। दिल्ली के बाद चेन्नई और मुंबई भी इस कतार में शामिल हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक ने लोन चुकाने की अवधि को 60 दिनों के लिए बढ़ाया

क्या कहते हैं ट्रैवलर्स?

सर्वे के मुताबिक 95 फीसदी यात्रियों (ट्रैवलर्स) ने और अधिक पब्लिक टॉयलेट की मांग की है। साथ ही, यह भी कहा है कि वह मौजूदा पब्लिक टॉयलेट में साफ-सफाई से संतुष्ट नहीं हैं।

इनता ही नहीं, 70 फीसदी ट्रैवलर्स ने तो यह भी कहा है कि उन्होंने कई जगहों पर घूमने का इरादा सिर्फ इसलिए ही बदल दिया क्योंकि साफ-सफाई न होने की वजह से उन्हें काफी दिक्कत होती है।

इस सर्वे के लिए करीब 10 हजार ट्रैवलर्स को चुना गया था। यह सर्वे दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, हैदाराबाद और पुणे में किया गया, जिसके आधार पर यह रिपोर्ट तैयार की गई है।

बैंकों के पास जमा हुए 5.44 लाख करोड़ रुपए, 10 फीसदी नोट बदले गए

किस शहर को मिले कितने वोट?

सर्वे में लोगों ने इन शहरों के पब्लिक टॉयलेट के बदबूदार होने को वोट दिए हैं। इसमें सबसे अधिक वोट मिले हैं कोलकाता को, जहां के टॉयलेट सबसे अधिक बदबूदार साबित हुए हैं।

इस वोटिंग में कोलकाता को 43 प्रतिशत, दिल्ली को 32 प्रतिशत, चेन्नई और मुंबई को 29 प्रतिशत, हैदराबाद को 20 प्रतिशत, पुणे को 18 प्रतिशत और बेंगलुरु को 14 प्रतिशत वोट मिले हैं। इस तरह से सबसे अधिक बदबूदार टॉयलेट कोलकाता में हैं, जबकि सबसे कम बदबूदार टॉयलेट बेंगलुरु में हैं।

कैश की किल्लत के बीच ATM से निकल रहे हैं आधे छपे नोट, सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल

क्या चाहते हैं ट्रैवलर्स?

ट्रैवलर्स ने कहा कि बस स्टॉप, रेलवे स्टेशन, धार्मिक स्थलों और सरकारी दफ्तरों के आसपास अधिक टॉयलेट की जरूरत है। 54 फीसदी भारतीय ट्रैवलर्स का मानना है कि उनके शहर में अधिक टॉयलेट होने चाहिए और साथ ही पर्यटन स्थलों और साइटसीइंग स्पॉट पर भी टॉयलेट होने चाहिए।

वहीं 41 फीसदी ट्रैवलर्स का कहना है कि रेलवे स्टेशन पर अधिक टॉयलेट बनाए जाने की जरूरत है। इसके अलावा 31 फीसदी ट्रैवलर्स मानते हैं धार्मिक स्थलों पर अधिक टॉयलेट की जरूरत है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
in terms of smelly public toilets kolkata first and delhi on second position
Please Wait while comments are loading...