• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

शिकायतें सुनकर अधिकारियों से बोले डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला-शर्म आ रही है

|
Google Oneindia News

रोहतक। जिला विकास भवन में रविवार को लोकसंपर्क एवं परिवेदना समिति की बैठक में एक बार फिर पब्लिक हेल्थ की किरकिरी होती नजर आई। पिछले माह बैठक में गृह मंत्री अनिल विज के बाद रविवार को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने भी विभाग के अधिकारी से उनकी शिकायतों पर पूछा अब क्या शर्म आ रही है। जवाब में अधिकारी ने फिर पहले की तरह जवाब दिया कि शर्मिंदगी महसूस कर रहा हूं सर...।

 I am ashamed to ask Deputy CM Dushyant Chautala, the officer said - Yes Sir

जिला विकास भवन के सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता रविवार को प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला कर रहे थे। उनके समक्ष 15 शिकायतें रखी गई, इनमें से नौ शिकायतों का निपटारा सुनवाई के दौरान कर दिया गया। चार शिकायतों के संदर्भ में समिति गठित करने के निर्देश जारी किए। पब्लिक हेल्थ के मामले में गत दिनों स्वास्थ्य विभाग द्वारा लिए गए पेयजल के 13 सैंपलों में से 8 सैंपल फेल होने पर उप मुख्यमंत्री भी खफा हो गए और मौके पर अधिकारी की क्लास ले ली। इसके बाद उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के आदेशों के तहत उद्योगों को पीएनजी व सीएनजी पर चलाने के लिए उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। सरकार जेनसेट बदलने के लिए उद्यमियों को 50 प्रतिशत अनुदान दे रही है। वहीं जिला विकास भवन से उप मुख्यमंत्री के लौटते समय गेट पर खड़ी एक महिला उनसे बातचीत करना चाहती थी, लेकिन गाड़ी न रुकने पर वह नाराज होकर सड़क पर लेट गई। सुरक्षाबलों ने महिला व उसकी बेटी को वहां से हटाया और उप मुख्यमंत्री का काफिला रवाना हो गया।

दलबीर ने सेक्टर एक में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) पर जमीन पर कब्जे करने का आरोप लगाया था। उपमुख्यमंत्री ने सुनवाई करते हुए संबंधित अधिकारियों को अगली परिवेदना समिति से पहले समाधान करने के निर्देश दिए। मारपीट के आरोप के मामले में एसपी को एसआईटी से जांच करवाने के आदेश दिए हैं। 200 करोड़ की ठगी के मामले में बहलबा के ग्रामीणों की शिकायत पर उप मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को शिकायतकर्ता की निशानदेही पर तुरंत आरोपी की गाड़ी को जब्त करने के निर्देश दिए।

उप मुख्यमंत्री ने खेड़ी साध निवासी जोगेंद्र व अन्य की शिकायत पर सुनवाई करते हुए एचएसआईआईडीसी के वरिष्ठ प्रबंधक से जवाब-तलब करते हुए कहा कि सरकारी जमीन पर यदि आम नागरिक ने पर्यावरण बचाने के लिए पेड़ लगाकर फैंसिंग कर दी तो इसमें शिकायतकर्ता का क्या दोष है। शिकायतकर्ता ने तो वह काम किया है जो विभाग नहीं कर पा रहा। उन्होंने मौके पर ही अधिकारी को पूरी ग्रीन बेल्ट में पौधे लगाने के आदेश दिए।सेक्टर तीन निवासी विनोद कुमार ने मकान के बाहर लगे ट्रांसफार्मर को शिफ्ट करवाने की शिकायत दी। उपमुख्यमंत्री ने बिजली निगम के अधिकारियों को शिकायतकर्ता के साथ मौका निरीक्षण कर उचित जगह तलाशने के निर्देश दिए। बालंद के ग्रामीणों ने मंदिर चौक के बीच में बिजली का पोल किनारे करवाने की मांग थी। बैठक में गांव की ओर से कोई नहीं पहुंचा।

Comments
English summary
I am ashamed to ask Deputy CM Dushyant Chautala, the officer said - Yes Sir
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X