• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

उत्तराखंड चुनाव में भावनात्मक मुद्दों से बीजेपी को होगा फायदा या अपने ही पूर्व सीएम के बयानों से बढ़ेगी टेंशन

|
Google Oneindia News

देहरादून, 10 सितंबर। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी हिंदुत्व और भावनात्मक मुद्दों को चुनाव मुद्दों में शामिल कर एक बड़े वोटबैंक को रिझाने में जुटी है। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने एक बार फिर चुनावी साल में धर्मांतरण को लेकर सख्त कानून बनाने की पैरवी की है। सीएम के चुनावी साल में धर्मांतरण को लेकर यूपी की तर्ज पर सख्त कानून बनाने की पैरवी के बाद चुनावी माहौल भी गर्मा गया है। इस बीच बीजेपी सरकार के पूर्व मुख्यमंत्रियों की लव जिहाद को लेकर अपने-अपने कार्यकाल में दिए गए बयान से बीजेपी को चुनावों में विपक्ष और जनता के कई सवालों के जवाब भी देने पड़ सकते हैं। बीजेपी शासन में तीनों सीएम के लव जिहाद को लेकर अलग-अलग राय सामने आ चुकी है।

Will BJP benefit from emotional issues in Uttarakhand elections or tension will increase due to statements of its own former CM

लव जिहाद पर सख्त कानून की पैरवी
सीएम ने एक कार्यक्रम में मीडिया से बातचीत में कहा कि उत्तराखंड में धर्मांतरण को कानून को सख्त बनाए जाने पर चर्चा हुई है। उन्होंने कहा कि जिहाद को रोकने और धार्मिक स्वतंत्रता बनाए रखने के लिए यह बेहद आवश्यक है। कानून को सख्त बनाने को अधिकारियों से इसका मसौदा तैयार करने को कहा गया है। उम्मीद है कि उत्तराखंड में पहले से अधिक प्रभावी और सख्त कानून धर्मांतरण के खिलाफ तैयार हो सकेगा। सीएम ने यूपी की तर्ज पर सख्त कानून बनाने की बात की है।

तीन सीएम तीन राय
सीएम पुष्कर सिंह धामी के बयान के बाद बीजेपी के शासनकाल में सीएम रहे तीरथ सिंह रावत और त्रिवेंद्र सिंह रावत के बयान सोशल मी​डिया में तेजी से वायरल हो रहे हैं। जिस पर सवाल खड़े हो रहे हैं कि एक ही सरकार के 3 मुख्यमंत्रियों की धर्मांतरण के मुद्दे पर राय अलग-अलग कैसे हो सकती है।

त्रिवेंद्र ने लव क्रांति सेना का किया था समर्थन
बीजेपी शासन के पहले सीएम रहे त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लव जिहाद के बदले लव क्रांति सेना तैयार करने के बीजेपी विधायक संजय गुप्ता के बयान का समर्थन किया था। ​त्रिवेंद्र का कहना था कि लव जिहाद के चलते कई बार कानून व्यवस्था को खतरा पैदा हो जाता है। उन्होंने कहा था कि लव जिहाद जैसे गलत परंपराओं की इजाजत नहीं दी जा सकती है। बीजेपी विधायक संजय गुप्ता ने लव क्रांति को लेकर 500 युवाओं की सेना तैयार करने का दावा किया था। खास बात ये है कि उस समय संजय गुप्ता के बयान का तब विधायक के तौर पर पुष्कर सिंह धामी ने भी समर्थन किया था।

तीरथ ने किया था दावा, दूसरे राज्यों जितनी बड़ी नहीं समस्या
त्रिवेंद्र सिंह रावत के बाद सीएम बनाए गए तीरथ सिंह रावत ने लव जिहाद को लेकर अलग राय दी थी। तीरथ ने वीएचपी के एक कार्यक्रम में कहा था कि लव जिहाद की समस्या उत्तराखंड में दूसरे राज्यों जितनी बड़ी नहीं है हालांकि उन्होंने जोर देकर यह भी कहा कि इसे रोकने के लिए जरूर कदम उठाए जाएंगे। तीरथ का यह बयान तब आया था जब वीएचपी लव जिहाद को लेकर काफी गंभीर और बड़ी समस्या बता रही थी। लेकिन तीरथ सिंह रावत ने बतौर सीएम उत्तराखंड में लव जिहाद को दूसरे राज्यों की तुलना में छोटी समस्या बता दी।

English summary
Will BJP benefit from emotional issues in Uttarakhand elections or tension will increase due to statements of its own former CM
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X