• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Uttarakhand: दून अस्पताल के डॉक्टर शशांक सिंह ने पेश की मानवता की मिसाल,स्वास्थ्य मंत्री ने बताया भगवान का रूप

डॉक्टर ने मरीज का ऑपरेशन करने से पहले खुद हीब्लड डोनेट किया
Google Oneindia News

उत्तराखंड की अस्थाई राजधानी देहरादून में राजकीय दून मेडिकल कॉलेज में तैनात सीनियर रेजिडेंट ऑर्थोपैडिक डॉक्टर शशांक सिंह ने एक मिसाल पेश की है। जिसकी हर कोई तारीफ कर रहा है। स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत ने भी डॉक्टर की इस पहल का स्वागत कर कहा ​है कि चिकित्सक भगवान का रूप होते हैं, ये डॉ. शशांक ने फिर साबित कर दिया। डॉक्टर शशांक सिंह ने एक मरीज का ऑपरेशन करने से पहले खुद ही एक यूनिट ब्लड डोनेट किया। जिसके बाद डॉक्टर की हर कोई तारीफ कर रहा है।

dehradun Doon Medical College doctor Shashank Singh humanity Health MinisterDonated blood operating patient

ऑपरेशन से पहले मरीज को खून देकर मानवता की मिसाल पेश की

उत्तराखंड में स्वास्थ महकमा हर बार निशाने पर रहता है। खासकर डॉक्टरों की शिकायते आए दिन मरीज करते रहते हैं। लेकिन कई डॉक्टर इस सिस्टम में ऐसे भी हैं जो दूसरे डॉक्टर के​ लिए मिसाल बन गए हैं। ऐसा ही एक मामला राजकीय दून मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में सामने आया है। ऑर्थोपैडिक डॉक्टर शशांक सिंह ने ऑपरेशन से पहले मरीज को खून देकर मानवता की मिसाल पेश की उसके बाद अपनी ड्यूटी भी पूरी की।
प्राप्त जानकारी के अनुसार देहरादून निवासी 60 वर्षीय अवधेश गहरे गड्ढे में गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उनकी छाती, हाथ और जांघ की हड्डी टूट गई है। इलाज के लिए उन्हें दून मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया। छाती, बाएं हाथ और जांघ की हड्डी में फ्रैक्चर होने से मरीज को तीन दिन आईसीयू में रखने के बाद हालत ठीक हो पाई। इसके बाद डॉक्टरों ने उनकी जांघ की हड्डी का ऑपरेशन करने का निर्णय लिया।

डॉक्टर ने खुद ही खून दिया, इसके बाद मरीज का ऑपरेशन किया

23 नवंबर को ऑपरेशन की डेट तय हुई लेकिन खून की कमी के कारण ऑपरेशन नहीं हो पाया था। उन्हें दो यूनिट खून की जरूरत थी। परिजन जब खून का इंतजाम नहीं कर पाए तो इलाज करने वाले डॉक्टर शशांक सिंह ने खुद ही खून दे दिया। इसके बाद मरीज की जांघ की हड्डी का ऑपरेशन किया। दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने डॉ. शशांक सिंह और उनकी टीम के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा कि इस तरह की भावना प्रत्येक डॉक्टर व कर्मचारियों में होनी चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने भी सोशल मीडिया के जरिए कहा कि दून अस्पताल के हड्डी रोग विभाग के ऑर्थो सर्जन डॉ. शशांक की जितनी तारीफ की जाए कम है। डॉ. शशांक ने एक गंभीर रूप से चोटिल व्यक्ति का ऑपरेशन करने से पहले उसे खून देकर एक मिसाल पेश की है। चिकित्सक भगवान का रूप होते हैं, ये डॉ. शशांक ने फिर साबित कर दिया। आपको साधुवाद।

ये भी पढ़ें-Uttarakhand: मदरसों का कायाकल्प करने की तैयारी, इन 7 मदरसों से होगी शुरूआतये भी पढ़ें-Uttarakhand: मदरसों का कायाकल्प करने की तैयारी, इन 7 मदरसों से होगी शुरूआत

Comments
English summary
Doctor Shashank Singh of Doon Medical College presented the example of humanity, Health Minister told the form of GodDonated one unit of blood himself before operating a patient. After which everyone is praising the doctor.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X