• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Ankita Bhandari case: तीन दिन एसआईटी के लिए सबसे अहम, तीनों आरोपियों से उगलवाएगी असली कहानी, ये है अहम कड़ी

अंकिता हत्याकांड:कोर्ट से आरोपियों की 3 दिन की रिमांड मिली
Google Oneindia News

देहरादून, 30 सितंबर। अंकिता भंडारी हत्याकांड में पुलिस के लिए तीन दिन सबसे अहम माने जा रहे हैं। कोर्ट से 3 दिन की रिमांड मिलने के बाद अब एसआईटी तीनों आरोपियों से कड़ी पूछताछ कर केस की गुत्थी सुलझाने की कोशिश करेगी। इस बीच पुलिस क्राइम सीन रिक्रेट कर आरोपियों से पूरा सच उगलवाने की कोशिश करेगी। इधर अंकिता के दोस्त पुष्प के बयान भी दर्ज हो गए हैं। जो कि इस केस में अहम कड़ी साबित होंगे।

SIT ने रिजॉर्ट से साक्ष्य जुटाने के साथ, कर्मचारियों के बयान दर्ज कर लिए

SIT ने रिजॉर्ट से साक्ष्य जुटाने के साथ, कर्मचारियों के बयान दर्ज कर लिए

इस समय पूरे देश की निगाहें अंकिता भंडारी केस में टिकी हुई है। हर कोई इस मामले में जल्द से जल्द सुनवाई और पूरे मामले की सच्चाई जानने की कोशिश कर रहा है। ऐसे मेें उत्तराखंड पुलिस पर भी दबाव बना हुआ है। अंकिता हत्याकांड की एसआईटी जांच चल रही है। अब तक इस मामले में एसआईटी ने रिजॉर्ट से साक्ष्य जुटाने के साथ कई पुराने और काम कर रहे कर्मचारियों के बयान दर्ज कर लिए हैं।

पुलकित आर्य, अंकित और सौरभ की 3 दिन की रिमांड मंजूर

पुलकित आर्य, अंकित और सौरभ की 3 दिन की रिमांड मंजूर

लेकिन पुलिस की असली परीक्षा अब शुरू होने जा रही है। इस मामले में मुख्य आरोपियों पुलकित आर्य, अंकित और सौरभ की 3 दिन की रिमांड मंजूर हो गई है। जिनसे आज से पुलिस पूछताछ करेगी। ऐसे में 3 दिन काफी अहम साबित होंगे। तीनों पौड़ी जेल में न्यायिक अभिरक्षा में बंद हैं। तीनों को एसआईटी शुक्रवार को जेल से ले सकती है।

एसआईटी गोपनीय तरीके से काम कर रही

एसआईटी गोपनीय तरीके से काम कर रही

सूत्रों का कहना है कि इस मामले को पुलिस नई रणनीति के साथ काम करके सुलझाने की कोशिश में जुटी है। ऐसे में पुलिस इस केस से जुड़ी कोई भी कड़ी को फिलहाल सार्वजनिक नहीं करना चाहती है। जिस तरह की वारदात आरोपियों के साथ पहले हो चुकी है, वह दोबारा न दोहराए इसके लिए एसआईटी गोपनीय तरीके से काम कर रही है। आरोपियों की रिमांड से लेकर पूछताछ और क्राइम सीन रिक्रेट करने को पूरी तरह से गोपनीय रखा जाएगा। जिससे किसी तरह का बाधा उत्पन्न न हो सके। अंकिता केस में सबसे अहम गवाह दोस्त पुष्प के बयान पुलिस ने दर्ज कर लिए हैं। जो कि अंकिता से दोस्ती से लेकर उसकी मौत तक की कहानी पुलिस को अपने हिसाब से बता चुका है।

अब तक कहां पहुंची जांच-

अब तक कहां पहुंची जांच-

18 सितंबर को वनंतरा रिजॉर्ट में काम करने वाली रिसेप्सनिस्ट 19 वर्षीय युवती अंकिता भंडारी लापता हुई। 23 सितंबर को पुलिस ने हत्या मानते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया था। मामले में आरोपी रिजॉर्ट के मालिक पुलकित और उसके मैनेजर सौरभ और अंकित को गिरफ्तार किया था। अंकिता का शव 24 सितंबर को चीला बैराज के पास मिला था। 24 सितंबर को ही मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई थी। इसके बाद एसआईटी ने रिजॉर्ट पहुंचकर जरूरी साक्ष्य जुटाए और घटना में प्रयुक्त बाइक व स्कूटर बरामद किया।

अंकिता के दोस्त पुष्प के भी बयान दर्ज हो चुके

अंकिता के दोस्त पुष्प के भी बयान दर्ज हो चुके

इस बीच अंकिता के दोस्त पुष्प के भी बयान दर्ज हो चुके हैं। साथ ही पटवारी और राजस्व कर्मियों से भी एसआईटी पूछताछ कर चुकी है। वनंतरा रिजॉर्ट में काम कर चुके कर्मचारी दंपति के एसआईटी ने मेरठ जाकर बयान दर्ज करने की बात सामने आई है। इस तरह से पुलिस ने इस मामले से जुड़े कई अहम बयान और साक्ष्य तो जुटा लिए हैं लेकिन अब इन कड़ियों को जोड़ने के लिए आरोपियों के बयान और पूछताछ अहम मानी जा रही है। जिससे असली कहानी सामने आ जाए।

ये भी पढ़ें-मेधावी छात्रा 12वीं में स्कूल टॉपर, लेकिन बिना पहली सैलरी लिए ही छोड़ गई दुनिया, ये है अंकिता की दर्दनाक कहानीये भी पढ़ें-मेधावी छात्रा 12वीं में स्कूल टॉपर, लेकिन बिना पहली सैलरी लिए ही छोड़ गई दुनिया, ये है अंकिता की दर्दनाक कहानी

Comments
English summary
Three days is most important for SIT, the real story will be spit out from the three accused, this is the important link
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X