• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

UP विधान परिषद में केशव जैसे OBC नेता के रहते स्वंत्रदेव सिंह पर योगी ने क्यों खेला दांव ?

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 23 मई: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद यूपी में बीजेपी की सरकार बनी है लेकिन दो महीने बाद भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के बीच सबकुछ सही नहीं चल रहा है। हालांकि चुनाव के बाद यह संदेश देने की कोशिश की गई कि योगी और केशव के बीच सबकुछ सही चल रहा है। कई मौके पर दोनों साथ साथ देखे गए लेकिन योगी के एक फैसले ने एक बार फिर नई अटकलों को हवा दे दी है। योगी ने विधान परिषद में अपने सबसे भरोसेमंद और वर्तमान में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव को परिषद का नेता बनाया है। राजनीतिक पंडितों को कहना है कि योगी ने स्वतंत्रदेव को विधान परिषद की जिम्मेदारी देकर एक साथ कई निशाने साधने की कोशिश की है।

केशव प्रसाद मौर्य

दिनेश शर्मा की जगह स्वतंत्रदेव को मिली बड़ी जिम्मेदारी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश अध्यक्ष और जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह को दूसरा इनाम दिया है। जीत के बाद योगी आदित्यनाथ से लेकर स्वतंत्र देव सिंह को कैबिनेट में मंत्री बनाया गया और अब उन्हें एक बड़ी जिम्मेदारी देकर विधान परिषद में सदन का नेता बनाया गया है। पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा की जगह मंत्री स्वतंत्र देव सिंह विधान परिषद के नेता का पद संभालेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह को विधान परिषद का नेता बनाने का प्रस्ताव भेजा था और शुक्रवार को उन्हें सदन में विधान परिषद का नेता बनाया गया है।

बीजेपी की जीत में स्वतंत्रदेव का अहम योगदान

दरअसल, प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर स्वतंत्र देव सिंह की विधानसभा चुनाव के साथ-साथ राज्य में बीजेपी को जीत दिलाने में भी बड़ी भूमिका रही थी. हालांकि, सिंह योगी आदित्यनाथ के पहले कार्यकाल के दौरान राज्य में मंत्री भी थे। लेकिन बाद में उन्हें संगठन की जिम्मेदारी दी गई। गौरतलब है कि स्वतंत्र देव को संगठन के साथ-साथ सरकार में भी काम संभालने का अनुभव है और वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के करीबी माने जाते हैं। वर्तमान में, सिंह दोहरी भूमिका में हैं क्योंकि भाजपा ने राज्य में किसी को भी प्रदेश अध्यक्ष के रूप में नियुक्त नहीं किया है और सिंह प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

विधान परिषद की कार्यकारी सलाहकार समिति का गठन किया

विधान परिषद की कार्यकारी सलाहकार समिति का गठन किया गया है और अध्यक्ष कुंवर मानवेंद्र सिंह, सदन के नेता स्वतंत्र देव सिंह, विपक्ष के नेता संजय लाठेर, अपना दल के नेता आशीष पटेल, बसपा नेता दिनेश चंद्र, नेता कांग्रेस दीपक सिंह, नेता शिक्षक के अलावा ' पार्टी सुरेश कुमार त्रिपाठी और निर्दलीय समूह के नेता राज बहादुर सिंह चंदेल को शामिल किया गया है। जबकि विशेष आमंत्रितों में मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, एमएलसी लक्ष्मण प्रसाद, सपा सदस्य नरेश उत्तम पटेल, सुरेश कुमार कश्यप, डॉ. दिनेश शर्मा, डॉ. महेंद्र कुमार सिंह, डॉ. जयपाल सिंह व्यस्त और राजेंद्र चौधरी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें-यूपी विधानसभा उपाध्यक्ष बने सपा विधायक नितिन अग्रवाल, मिले 304 वोटयह भी पढ़ें-यूपी विधानसभा उपाध्यक्ष बने सपा विधायक नितिन अग्रवाल, मिले 304 वोट

Comments
English summary
Why did Yogi play bets on Swatantradev Singh in the UP Legislative Council when an OBC leader like Keshav was there?
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X