• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

UP:आजम खान के समर्थन में सपा की सड़क पर उतरने की तैयारी,अखिलेश रामपुर से शुरू करेंगे ये अभियान

|

रामपुर: समाजवादी पार्टी ने अपने नेता और रामपुर से सांसद आजम खान और उनके परिवार वालों के समर्थन में एक बड़ा साइकिल मार्च निकालने का ऐलान किया है। 9 दिनों का यह साइकिल मार्च इसी हफ्ते यूपी के रामपुर से शुरू होकर लखनऊ में जाकर खत्म होगा। पार्टी की ओर से शनिवार को जारी बयान में कहा गया है कि यह साइकिल यात्रा 12 मार्च से शुरू होगी और 21 मार्च को लखनऊ में एक रैली के साथ संपन्न होगी। अभियान की शुरुआत पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खुद रामपुर के मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी में एक प्रेस कांफ्रेंस के साथ करेंगे। माना जा रहा है कि अगले साल यूपी विधानसभा और आने वाले पंचायत चुनावों से पहले समाजवादी पार्टी की ओर से अपने कैडरों में नए जोश भरने की यह कवायद है।

'आजम खान को हिस्ट्रीशीटर कहा जा रहा है'

'आजम खान को हिस्ट्रीशीटर कहा जा रहा है'

समाजवादी पार्टी ने आजम खान और उनके परिवार के समर्थन में साइकिल मार्च निकालने का फैसला इसलिए किया है, क्योंकि उसके मुताबिक प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार कथित तौर पर उनके खिलाफ बदले की भावना से कार्रवाई कर रही है। बयान में कहा गया है, 'यह रैली आजम खान के खिलाफ बदले की भावना के साथ की जा रही कार्रवाई के खिलाफ होगी, जो कि रामपुर के मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के संस्थापक भी हैं। जबकि, आजम खान एक सांसद और पूर्व मंत्री हैं, उनकी पत्नी तनजीन फातिमा एक एमएलए हैं। उनके साथ ही उनके बेटे अब्दुल्ला को भी आरोपी बनाया गया है। जब से बीजेपी सरकार सत्ता में आई है, परिवार को संकट का सामना करना पड़ रहा है। परिवार को सैकड़ों फर्जी मुकदमों का सामना करना पड़ रहा है और आजम खान को हिस्ट्रीशीटर कहा जा रहा है। '

आजम की पेंशन रोक दी गई-सपा

आजम की पेंशन रोक दी गई-सपा

सपा की ओर से कहा गया है कि वह तो आजम खान और उनके परिवार के साथ शुरू से ही है। इसके मुताबिक, 'यूनिवर्सिटी स्थापित करके आजम खान ने युवाओं को जिंदगी सुधारने की दिशा में कदम उठाया था। इसलिए बीजेपी उनके खिलाफ हो गई और उन्हें परेशान कर रही है। जिले के अधिकारी अपने निजी फायदे के लिए उनके खिलाफ झूठे केस बना रहे हैं। वह बेकसूर घोषित किए जाएंगे और संयोग से ऐसा होने से पहले ये सब हो रहा है। ' पार्टी की ओर से आरोप लगाया गया है कि इमरजेंसी के दौरान कांग्रेस सरकार ने उन्हें जेल में डाल दिया था और इसलिए सपा सरकार ने उन्हें लोकतंत्र सेनानी रक्षकों का पेंशन देना शुरू किया था,लेकिन मौजूदा सरकार ने उनकी वह पेंशन भी रोक दी है।

यूपी में चारों ओर जंगलराज है-अखिलेश

यूपी में चारों ओर जंगलराज है-अखिलेश

सपा की इस रैली में अखिलेश के अलावा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल और विधानसभा में नेता विपक्ष राम गोविंद चौधरी, विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन समेत बाकी नेता शिरकत करेंगे। उधर अखिलेश यादव का यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला जारी है और उन्होंने दावा किया है कि जब तक ये सरकार 'उत्तर प्रदेश में सत्ता में रहेगी यह उत्तम प्रदेश नहीं बनेगा।' उन्होंने आरोप लगाया है कि 'सीएम लंबे-लंबे भाषण तो देते हैं, लेकिन प्रदेश में कानून-व्यवस्था को नियंत्रित रखने में नाकाम रहे हैं।........चारों ओर जंगलराज कायम है।' राज्य में इसी महीने पंचायत चुनाव की घोषणा होने की संभावना है और अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि अपने खास वोट बैंक को एकजुट रखने के लिए समाजवादी पार्टी ने इस तरह के अभियान की शुरुआत करने का फैसला किया है। (तस्वीरें-फाइल)

इसे भी पढ़ें- यूपी पंचायत चुनाव 2021: 25 मार्च को हो सकती है तारीखों की घोषणाइसे भी पढ़ें- यूपी पंचायत चुनाव 2021: 25 मार्च को हो सकती है तारीखों की घोषणा

English summary
UP:In support of Azam Khan, Samajwadi Party will take out a cycle march from Rampur to Lucknow
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X